representational image
प्रतीकात्मक तस्वीर

    विशाखापट्टनम: आज के समय में बच्चे बहुत ज़्यादा ज़िद्दी होते जा रहे हैं। वह अपनी बात मनवाने के लिए अपने माता-पिता (Parents) को बहुत परेशान भी करते हैं। ऐसे में उनकी बात मानने से अगर माता-पिता माना कर देते हैं तो कुछ बच्चे गलत कदम भी उठा लेते हैं। ऐसा ही एक किस्सा आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh) से सामने आया है, जहां एक नाबालिग लड़के ने इसलिए खुदकुशी (Suicide) कर ली क्योंकि उसके माता-पिता ने उसे घर में कुत्ता (Dog) पालने से माना कर दिया था। 

    यह हैरान कर देने वाली घटना आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम से सामने आई है। यह घटना सोमवार की है, जहां शहर के वेंकटेश्वरा मेट्टा इलाके में 16 साल के लड़के षणमुख वामसी ने सीलिंग फैन से लटक कर जान दे दी। दरअसल, मामला ये है कि लड़का 30,000 रुपये में कुत्ता खरीद कर अपने घर लाना चाहता था, लेकिन माता-पिता ने उसे ऐसा करने से माना कर दिया और उसे इस बात की इजाजत नहीं दी, जिससे षणमुख वामसी काफी ज़्यादा नाराज़ हो गया और उसने ऐसा भयानक कदम उठा लिया। लड़के ने यह कुत्ता ऑनलाइन बिक्री वेबसाइट पर देखा था।

    षणमुख वामसी की मां जब सोमवार को जरूरी घरेलू सामान खरीदने बाजार गई तो उस समय षणमुख वामसी के घर पर कोई नहीं था। ऐसे में कुत्ते को घर में ना ला पाने की वजह से हताश षणमुख वामसी ने खुद को फांसी लगा ली। जब उसकी मां घर वापस आई और ये सब देखा तो उसके होश उड़ गए। जिसके बाद षणमुख वामसी को तुरंत अस्पताल पहुंचाया, लेकिन डॉक्टरों ने षणमुख को मृत घोषित कर दिया। एमआर पेट्टा थाने की पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया गया और इसकी जांच शुरू कर दी गई। पुलिस के मुताबिक आपराधिक दंड संहिता (CrPC) की धारा 174 के तहत केस दर्ज किया गया है।