Tufan, Rain

  • प्रशासन ने मांगें 10.87 लाख

वर्धा. जिले में मई माह में आई तूफानी बारिश ने कई गांवों में कहर बरपाया था़  इसमें अनेकों के मकान व फसल का नुकसान हो गया था. नुकसान क्षेत्र की रिपोर्ट प्रशासन ने वरिष्ठ स्तर पर भी भेज दी, परंतु अब तक प्रभावितों को किसी प्रकार की राहत नहीं मिली है़  वर्धा तहसील के चार गांवों में प्रकृति का कहर टूटा था, इसमें सर्वाधिक 125 मकानों का नुकसान पवनार में हुआ़  इसके अलावा महाकाल, येसंबा व कामठवाडा में भी कुछ मकान क्षतिग्रस्त हो गए थे़  इन चार गांवों के 139 परिवार आज भी सरकारी मदद की प्रतीक्षा में है.  

बता दें कि जिले पर हर साल प्रकृति अपना कहर बरपाती है़  इस बार गर्मी के दिनों में भी बेमौसम बारिश ने दस्तक देकर नुकसान किया है़  इसमें गर्मी फसल का भी भारी नुकसान हुआ है.  

तूफान व बारिश ने बरपाया था कहर 

10 मई को हुई तूफान व बारिश ने तहसील के कुछ गांवों में कहर बरपाया था़  इससे जनजीवन पूर्णत: प्रभावित हो गया था़  पवनार में तो प्रकृति का कहर टूट पड़ा. तूफान के कारण करीब 125 मकानों का भारी नुकसान हुआ़  कई मकानों के छत उड़कर दूर जा गिरे, तो कुछ मकानों की दीवारें ढह गई़  प्रकृति के इस कोहराम से पूरा गांव प्रभावित हो गया था.  

आर्थिक संकट का सामना कर रहे परिवार 

इसके अलावा महाकाल में 12 मकान, येसंबा में 1 व कामठवाड़ा में 1 मकान क्षतिग्रस्त हुआ था़  इस नुकसान क्षेत्र का प्रशासन ने सर्वेक्षण किया़ इसमें 139 मकानों की मरम्मत के लिए 8 लाख 34 हजार की मांग की गई़  परंतु अब तक उक्त राहत प्रभावित परिवारों को नहीं मिली है़  इसमें अधिकांश किसान परिवार है़  खरीफ मौसम में के मुहाने पर यह आफत आने से सभी परिवार आर्थिक संकट का सामना कर रहे है. 

नुकसानग्रस्त किसानों के लिए 2.53 लाख की मांग

तूफानी बारिश में फसल व केले की बाग का भी नुकसान हुआ था़  पवनार में 10.95 हेक्टेयर, मुधापुर में 0.40 हेक्टेयर, महाकाल में 0.95 हेक्टेयर, वरुड़ में 0.20 हेक्टेयर व दहेगांव में 1.60 हेक्टेयर क्षेत्र की फसल बर्बाद हुई थी़  इसकी रिपोर्ट भी सरकार को भेजी गई है़ प्रभावित किसानों के लिए 2 लाख 53 हजार 800 रुपए की मदद निधि की मांग हुई है़  परंतु अब तक किसनों को किसी प्रकार की राहत नहीं मिली. 

गाज से प्रभावित लोगों को उपलब्ध कराई राहत

हाल ही में जिले में हुई बिजली की कड़कड़ाहट के साथ बारिश हुई थी़  इसमें गाज गिरने से दो लोगों की मौत हुई है. वहीं 15 पशु आपदा की भेंट चढ़ गए. प्रभावितों के लिए सरकार ने 11 लाख 67 हजार का निधि प्रदान किया. 

सर्वेक्षण करने के बाद सरकार को भेजी रिपोर्ट

पवनार सहित आसपड़ोस के गांवों में तूफानी बारिश से जो नुकसान हुआ था, उस क्षेत्र का सर्वेक्षण करते हुए उसकी रिपोर्ट वरिष्ठस्तर पर भेजी गई है़  प्रशासन ने 10 लाख 87 हजार 800 रुपए की मांग की है़ राहत निधि प्राप्त होते ही संबंधितों को वितरित किया जाएगा. 

-रमेश कोलपे, तहसीलदार.