Rana, MLA of Agricultural Cooperative Vergator Union, asks for action on seed certification machinery

    यवतमाल. कलंब तहसील में हर साल फर्जी कपास के बीज की बिक्री का पर्दाफाश होता है. इसमें किसान ठगे जाते है. इस वर्ष बोगस कपास के बीज को रोकने की चुनौती कृषि विभाग के सामने होती है. खेती का मौसम नजदीक आ रहा है. किसानों ने खेती में तेजी लाई है. खाद के दाम बढ़ने से किसानों में पहले से ही चिंता का माहौल है. इस बात पर विचार किया जा रहा है कि कौन से बीज खेत में लगाएं. कुछ ठग किसानों को फर्जी बीज थोप देते है, कपास की फर्जी किस्मों से किसानों को भारी नुकसान हुआ है. अधिकांश समय, यह उजागर नहीं होता है.

    बरतनी होगी सतर्कता

    पिछले साल कुछ गांवों में नकली कपास की किस्म बेची गईं. इस का जिला परिषद के तत्कालीन कृषि अधिकारी पंकज बरडे ने छापा मारा और फर्जी किस्मों को जब्त कर विक्रेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया. साथ ही कलंब में फर्जी खाद व दवाओं की बिक्री का भी खुलासा हुआ है. कृषि विभाग को सतर्क रहने की जरूरत है. कृषि विभाग ने पहले ही कई कड़े कदम उठाए हैं.