मिनी मंत्रालय को कोरोना की बाधा, दिनभर नदारद रहे वरिष्ठ अधिकारी

  • सामान्य प्रशासन सील
  • कर्मियों में दहशत

वर्धा. गत कुछ दिनों से जिले में कोरोना ने पैर पसारने शुरु कर दिये है़ गति से मरिजों की संख्या बढ रही है़ इससे सरकारी दफ्तर भी अछुते नहीं रहे़ अब तक कोरोना से बचे रहे मिनी मंत्रालय को भी कोरोना की बाधा हो गई है़ जिप के सामान्य प्रशासन विभाग का वरिष्ठ कर्मी पाजिटिव पाये जाने से सर्वत्र हडकम्प मच गया़ प्रशासन ने खबरदारी के तौर पर संबंधीत विभाग को सील कर दिया है़ कर्मचारी बाधित निकलने से गुरुवार को लगभग सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारी नदारद दिखाई दिए़ केवल इक्का दूक्का कर्मी कोरोना की दहशत में काम कर रहे थे़.

बता दे कि, गत पखवाडे से जिले में कोरोना मरिजों की संख्या ने रफ्तार पकडी है़ गुरुवार की शाम तक जिले में कुल 2224 बाधित बताये गए़ अब तक 1120 कोरोनामुक्त हुए जबकि 1065 एक्टीव मरिजों पर ईलाज शुरु होने की जानकारी बिती रात्रि प्रशासन ने दी़ शहरी व ग्रामीण क्षेत्र कोरोना बाधित मिलने से सर्वत्र दहशत बनी हुई है़ प्रशासनिक खेमे में भी कोरोना ने एन्ट्री कर ली है़.

जिलाधिकारी कार्यालय में दो वरिष्ठ अधिकारियो सहित कुछ कर्मचारी बाधित पाये गए़ प्रशासकिय इमारत में भी कुछ कर्मी कोरोना पाजिटिव निकले़ इसके अलावा अन्य सरकारी दफ्तरों में भी कुछ मरिज पाये गए़ परंतु अबतक जिले का मिनी मंत्रालय कोरोना से बचा हुआ था़ आठ दिनो पूर्व जिप के दो सदस्य भलेही बाधित पाये गए थे, परंतु अब तक कोई कर्मचारी यहां पाजिटिव नहीं निकला था़ परंतु बुधवार को सामान्य प्रशासन विभाग के कनिष्ठ प्रशासन अधिकारी बाधित पाये जाने से सर्वत्र हडकम्प मच गया़ खबरदारी के तौर पर गुरुवार से सामान्य प्रशासन विभाग सील कर दिया गया है़.

उल्लेखनिय यह कि, संबंधीत विभाग से सटे पशुसंवर्धन विभाग, पंचायत विभाग व अध्यक्ष का कक्ष है़ सामान्य प्रशासन में सभी विभाग के कर्मचारी आते है़ खबरदारी के तौर पर संपुर्ण इमारत सील कर सैनिटाईज्ड करना जरुरी था, परंतु ऐसा नहीं किया गया़ ऐसी चर्चा अन्य कर्मचारियों में थी़ महत्वपूर्ण यह कि, कर्मचारी बाधित पाये जाने से गुरुवार को अधिकांश विभागप्रमुख व वरिष्ठ अधिकारी अपने कक्ष से नदारद थे़ जिन अधिकारियों को समय पर पता चला, वें भी सतर्कता बरतते हुए जिप से निकल गए़ केवल इक्का दुक्का नीचले कर्मचारी ही अपने काम करते नजर आए़ वरिष्ठों को केवल अपनी चिंता हैं हमारी नहीं, कुछ इस प्रकार की संतप्त प्रतिक्रिया उपस्थित कर्मी व्यक्त करते नजर आए़ 

अनेको के सपंर्क आया कर्मी
उल्लेखनिय यह कि, उक्त कर्मचारी वर्धा तथा देवली में 3-3 दिन सेवा देते थ़ग गत कुछ दिनों में वें जिप के अन्य विभागों में कार्यरत अधिकांश कर्मियों के संपर्क में भी आने की जानकारी है़ परंतु स्वास्थ्य प्रशासन ने केवल सामान्य प्रशासन विभाग सील करने के आगे किसी प्रकार की उपाययोजना नहीं की़ संपर्क में आनेवाले अनेकों की टेस्ट न करने की जानकारी है़ 

6 लोग क्वारंटाईन
बाधित कर्मचारी के निकट संपर्क में आनेवाले 6 लोगों को क्वारंटाईन किया गया है़ उक्त विभाग सील कर दिया़ कर्मी के संपर्क में आनेवाले अन्य लोगों की खोजबिन कर उनकी कोरोना जांच की जाएगी़ -डा़. अजय डवले (जिला स्वास्थ्य अधिकारी, वर्धा)