उप जिला अस्पताल में नही है गायनाकोलॉजिस्ट

  • प्रसुति के लिए आयी महिलाओं को हो रही परेशानी
  • प्रशासन सहित जनप्रतिनिधि की अनदेखी

हिंगनघाट. स्थानीय उपजिला अस्पताल में गत दो माह से प्रसूति के लिए आनेवाले गरीब गर्भवती महिलाओं के लिए कोई भी महिला या अन्य डाक्टर उपलब्ध नही होने से सर्वसामान्य नागरिकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है. प्रशासन सहित जनप्रतिनिधि का भी इस ओर ध्यान नही देने से नागरिकों में रोष व्याप्त है. 

122 बिस्तरों का उपजिला अस्पताल में प्रसुति के लिए कोई भी व्यवस्था नही है. शहर में निजी प्रसूतिगृह अस्पताल है. परंतु वहा वसुला जानेवाला शुल्क गरीब महिलाओं को चुकाना संभव नही है. राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 7 पर बने उपजिला अस्पताल में गर्भवति महिलाओं की प्रसूति के लिए चिकित्सक नही होना काफी खेदजनक है. नार्मल प्रसुति सिनियर परिचारिका द्वारा की जाती है. परंतु शल्यक्रिया वाली प्रसूति के लिए मरीज को समय पर सावंगी, सेवाग्राम में भेजने के आदेश उपस्थित डाक्टर देते है. इस संबंध में उपजिला अस्पताल के अधीक्षक चिकित्सक डा़ चाचरकर से संपर्क करने पर अस्पताल में प्रसूति के लिए डाक्टर उपलब्ध नही होने की बात कबुल की. जिससे गरीब महिलाओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है. इस संबंध में कांग्रेस के नेता ज्वलंत मून ने जिला शल्य चिकित्सक को ज्ञापन सौंपा है.