मजीप्रा की लापरवाही से मार्ग के खस्ताहाल

  • वरिष्ठ अधिकारी कर रहे अनदेखी

आर्वी. तहसील के भादोड-भाईपूर (पुनर्वसन) में डांबरीकरण के बाद किये गए पाईपलाईन के काम से मार्ग की हालत खस्ता हो गई है़ मजीप्रा की लापरवाही से यह समस्या पैदा होने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया है़ बार बार शिकायत के बावजुद भी वरिष्ठ अधिकारी अनदेखी कर रहे है़ काली मिट्टी फैली होने से फिसलन के कारण हादसे घट रहे है़ 

बता दे कि, आर्वी-देऊरवाडा के लिए भादोड से जाना पडता है़ इस मार्ग का डांबरीकरण अब तक न होने से पगडंडी मार्ग से भी इसकी हालत खराब हो गई है़ 13 नवम्बर को हुई हलकी बारिश से मार्ग पर फिसलन तैयार हो गई थी़ खरिदारी के लिए आवागमन करनेवालो को काफी समस्या का सामना करना पडा़ वाहन तो छोडे पैदल चलना भी मुश्किल हो गया़ करीब 50 मीटर तक यह मार्ग काफी दयनिय बन गया है़ नागरिक दुपहिया दूसरें छोर पर खडी कर पैदल ही चलते नजर आ रहे थे.

इससे ग्रामीणों में भारी रोष पणप रहा है़ लोकनिर्माण विभाग ने मार्ग का डांबरीकरण किया था़ परंतु अकल के तारे दौडाते हुए मजीप्रा ने पाईपलाईन बिछाने का काम किया़ निम्म वर्धा प्रकल्प ग्रस्त संघर्ष समिति ने बार बार सूचना करने के बावजुद भी मजीप्रा अधिकारियों ने मनमर्जी से काम को अंजाम दिया़ जेसीबी से मार्ग की खुदाई की़ परंतु इसे सुचारु तरीके से नहीं बुझाया़ पाईप बिछाने के बाद केवल गड्ढों में ऊपर से काली मिट्टी डाल दी गई़ इससे डांबरीकरण मार्ग की अवस्था खराब हो गई़ वर्तमान में इस मार्ग से चलना भी मुश्किल हो गया है़ हलकी बारिश होने पर मार्ग खराब हो जाता है़ 

अधिकारियों पर करें कार्रवाई – कडू

मजीप्रा अधिकारियों की लापरवाही से ग्रामीणों को खामियाजा भुगतना पड रहा है़ दिशाहीन व नियोजनशुन्य तरीके से यह काम किया गया़ आर्वी विभाग में कार्यरत गुरूमुखी तथा मजीप्रा के कार्यकारी अभियंता मदनकर ने भादोड के अलावा अन्य गांवो में भी किये कामो में लापरवाही बरती है़ तकनीकि दृष्टी से किसी प्रकार की गंभीरता नहीं बरती़ काम प्रगति पर रहते किसी भी साईट पर वरिष्ठों ने भेंट नहीं दी़ इससे काम की गुणवत्ता पर असर हुआ है़ मजीप्रा के कार्य से अन्य विभागों के काम का नुकसान हुआ है़ इस लापरवाही के कारण भादोडवासियों की दिवाली अंधेरे में गई है़ ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें.