बच्चों के लिये कोविड सेंटर का करे नियोजन, जिप की सभा उठा मामला,अनेक मुद्दो पर हुई चर्चा

    वर्धा. कोरोना की तीसरी लहर आने की सूचना स्वास्थ्य विभाग ने की है. इस लहर में बच्चों को खतरा होने के कारण तुरंत कदम उठाते हुए कोविड सेंटर का निर्माण किया जाये ऐसी मांग जिला परिषद की स्थायी समिति की सभा में सदस्यों ने की. सभा में टीकाकरण के दौरान स्वास्थ्य अधिकारी सदस्यों विश्वास में नही लेते है ऐसा आरोप भी किया गया.

    जिला परिषद की स्थायी समिति की सभा बुधवार को जिप अध्यक्ष सरीता गाखरे की अध्यक्षता में आनलाईन हुई. बैठक को उपाध्यक्ष वैशाली येरावार, कृषि सभापति माधव चंदनखेडे,समाज कल्याण सभापति विजय आगलावे, स्वास्थ्य व शिक्षा सभापति मृणाली माटे, महिला बाल कल्याण सभापति सरस्वती मडावी, सदस्य व जिप के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डा.सचिन ओम्बासे, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी सत्यजीत बढे, विपुल जाधव, लेखा व वित्त अधिकारी सदाशिव शेलके व अन्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे.

    सभा में जिप सदस्य पंकज सांयकार ने दिव्यागों के टिकाकरण पर ध्यानाकर्षण करते हुए उन्हें टिकाकरण केंद्र पर पहुंचाने की व्यवस्था करने की मांग की. अंगनवाडी निर्माण के अतिरिक्त राशि का प्रावधान 15 वित्त आयोग के सदस्यों की राशि करने का प्रस्ताव रखने का निर्णय लिया गया. दिव्यागों के पाच प्रतिशत निधी तुरंत वितरण जिप सदस्यों को विश्वास में लेकर करने पर सभा में सहमती बनी. आशा वर्कर ने कोविड काल में बेहतर सेवा देने के कारण उन्हें जिप सेस फंड से मानधन देने का निर्णय लिया गया.

    स्वास्थ्य उपकेंद्र को एम्बुलन्स देने के संदर्भ में सरकार की और प्रस्ताव भेजने का निर्णय लिया गया. पिपरी के टिकाकरण केंद्र बंद करने को लेकर सदस्य संजय शिंदे ने मामला उठाया. बीएएमएस डाक्टरों को कार्यमुक्त न किया जाये,जिला वार्षिक योजना से 12 करोड के कामों के संदर्भ में सदस्य स्कूल के नाम बताये, ऐसे निर्देश अध्यक्ष गाखरे ने दिये.

    3 आंगनवाडी गायब

    जिप सदस्य अंकीता होले ने तलेगाव शापं में 10 अंगनवाडी केंद्र मंजूर हुए है.किंतु वास्तविकता में केवल 7 केंद्र शुरू है. तीन केंद्र कहां गये, ऐसा सवाल कर जांच करने की मांग की. तलेगाव में स्वतंत्र जलापूर्ति योजना का प्रस्ताव तैयार कर सरकार की और भेजने की मांग की.

    चर्चा में जिप सदस्य राणा रननवरे, नितीन मडावी,संजय शिंदे, मुकेश भिसे, पंकज सायंकार, मुकेश कराले, शुभांगी डेहणे शामिल हुए थे.