जनप्रतिनिधि के घर के समक्ष शिक्षकों का ठिया

वर्धा. गत 20 वर्षो से राज्य के हजारों शिक्षक बिना वेतन काम कर रहे है. परंतु शासन स्तर पर केवल आश्वासन ही मिलने से अत:त निराश हुए बिना अनुदानित शिक्षकों ने आंदोलन का मार्ग अपनाया है. बुधवार को मरा कायम बिना अनुदानित स्कूल कृति समिति द्वारा नागपुर विभाग सचिव अजय भोयर के नेतृत्व में जनप्रतिनिधि के घर के समक्ष ठिया आंदोलन किया गया.

13 सितम्बर 2019 के शासन निर्णय के तहत 1 अप्रैल 2019 से घोषित स्कूलों को 20 फीसदी अनुदान व 20 फीसदी वेतन ले रहे स्कूलों को 40 फीसदी अनुदान देने का निर्णय लिया गया. परंतु 1 वर्ष बितने के बाद भी अभी तक कार्रवाई नही होने से शिक्षकों को वेतन नही मिला. जिस कारण राज्यभर में आंदोलन किया जा रहा है. वर्धा में सांसद रामदास तडस, विधायक डा़ पंकज भोयर के घर के समक्ष ठिया आंदोलन कर निवेदन दिया गया. 20 फीसदी अनुदान ले रहे स्कूलों को 1 अप्रैल 2019 से आगे किश्त दें, अनुदान घोषित प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक स्कूलों को 1 अप्रैल 2019 से वेतन दें, अघोषित सभी प्राथमिक, माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों को निधि दें, सभी बिना अनुदानित स्कूलों के शिक्षक, कर्मचारियों को सेवा संरक्षण दें, आदी मांगो का ज्ञापन दिया गया. आंदोलन में मनीष मारोडकर, अमित प्रसाद, कुंडलिक राठोड, किशोर चौधरी, सिकंदर लोटे, सद्धिार्थ वाणी, पवन माटे, गणेश चंदीवाले, संतोष जगताप, प्रवीन बनकर, मुकेश इंगोले, संजय बारी, सुनील गायकवाड, विनय बरडे, सारंग परिमल, नरेश कुटेमाटे मौजूद थे.