Sunil Kedar

    वर्धा. जिला कामगार कल्याण कार्यालय में निर्माण कार्य कामगारों का पंजीयन कर उन्हें विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाता है, लेकिन उनके पंजीयन के बारे में अनेक शिकायतें प्राप्त हो रही है़  यह समस्या दूर करने के लिए जिला कामगार अधिकारी को पिछले तीन वर्ष में पंजीयन करने वाले कामगारों की नाम व पते के साथ सूची प्रस्तुत करने के निर्देश पालकमंत्री सुनील केदार ने दिए है़  जिलाधिकारी कार्यालय में पालकमंत्री की अध्यक्षता में विभिन्न विभागों का जायजा लिया गया.

    इस दौरान विधायक रणजीत कांबले, जिलाधिकारी प्रेरणा देशभ्रतार, पुलिस अधीक्षक प्रशांत होलकर, कामगार कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त उज्ज्वल लोया, सहायक आयुक्त एमपी मडावी, जिला कामगार अधिकारी कौस्तुभ भगत उपस्थित थे़  पालकमंत्री द्वारा कामगार विभाग के कार्य का जायजा लिया गया़  इस वर्ष जिले में कितने कामगारों का पंजीयन हुआ़  कौनसी योजना का लाभ अब तक लोगों को दिया गया़  इस बारे में विस्तृत जानकारी देने के निर्देश दिए. पिछले 3 वर्ष में किए कार्य की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए.  

    आखिरकार उजागर हुआ भ्रष्टाचार

    उल्लेखनिय है कि जिले में कामगार कल्याण कार्यालय अंतर्गत बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार उजागर हुआ है़  तत्कालीन अधिकारी पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है़  इन दिनों बड़े पैमाने पर कामगारों की शिकायतें प्राप्त होने से पालकमंत्री भी जांच के मूड में दिख रहे है़.