BHEL prepares solar power plant for railways in Madhya Pradesh

    • मनसे का डफली बजाओ आंदोलन के संकेत 

    वाशिम. गंभीर मरीजों के लिए 24 घंटे बिजली आपूर्ति मिलने की दृ़ष्टि से जिला सामान्य अस्पताल में निर्मित 2 करोड़ 12 लाख रुपयों के मूल्य का सौर उर्जा प्रकल्प अभी भी कार्यान्वीत न होने से सुविधा होकर नही के बराबर है. जिससे मरीजों की सुविधा के लिए सौर उर्जा सयंत्र कार्यान्वीत करने की मांग को लेकर 18 फरवरी को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की ओर से जिला शल्य चिकित्सक को निवेदन दिया गया़  निवेदन में डफली बजाओ आंदोलन के संकेत दिए गए है.

    इस अवसर पर मनसे के जिलाध्यक्ष मनीष डांगे, तहसील अध्यक्ष मोहन कोल्हे, राजू किडसे, मोहंमद नौरंगाबादी, बालू विभुते, निखिल बुरकुले आदि उपस्थित थे. शहर के सरकारी अस्पताल में गंभीर व अतिगंभीर मरीज उपचार के लिए आते है़  ऐसे में उपचार शुरू रहते समय बिजली सप्लाई बंद हुई तो मरीजों को उपचार के लिए लगाई गई मशिनरी बंद पड़ती है. ऐसे में मरीजों के उपचार में बाधा निर्माण होती है़.

    इसे देखते हुए 31 जुलाई 2019 को जिला सामान्य अस्पताल में 2 करोड़ 12 लाख रुपयों की लागत से सौर उर्जा सयंत्र प्रकल्प की निर्मिति की गई़  यह सयंत्र निर्मित करके करीब डेढ़ वर्ष का कालावधि हो गया लेकिन अभी तक यह प्रकल्प और सयंत्र शुरू नही हुआ़  जिससे प्रकल्प के मूल उद्देश्य पूर्ण नही हो रहा है़  जिससे गंभीर मरीजों को सुविधा से वंचित रहना पड़ रहा है.

    इस लिए यह प्रकल्प शुरू करने के लिए रहनेवाली तकनीकी, अशासकीय समस्या दूर करके सौर उर्जा का लाभ मरीजों देने की मांग मनसे व्दारा की गई है़ इसी तरह से मांग की दखल नही लेने पर डफली बजाओ आंदोलन करने के संकेत दिए गए है़