vaccine
File Photo

  • पहले चरण में 5,500 लोगों का टीकाकरण  

वाशिम. विश्व की कोरोना महामारी पर प्रतिबंध करने के लिए कोरोना पर स्वदेशी टीका उपलब्ध हुआ है़  देशस्तर पर कोरोना संक्रमण पर मात करने के लिए संशोधित किया गया टीका प्रभावी ठहरनेवाला है़  देश में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण की शुरुआत होते समय जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. ने जिले में कोरोना टीकाकरण की तैयारी का जायजा जिलाधिकारी कार्यालय के वाकाटक सभागृह में आयोजित बैठक में लिया.

इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा़ अविनाश आहेर, शिक्षणाधिकारी अंबादास मानकर, जिला शल्य चिकित्सक के प्रतिनिधि डा़ संदीप हेडाऊ, एस.टी. डिपो व्यवस्थापक के प्रतिनिधि, युनिसेफ कन्सलटंट डा़  शैलेश पाटिल, स्वास्थ्य विभाग की एस. पी. चव्हाण, टीकाकरण यंत्र संनियंत्रक संतोष इंगले व मंगला लाटकर आदि उपस्थित थे.

जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. ने कहा कि 16 जनवरी से शुरू होनेवाली कोरोना टीकाकरण मुहिम सफल करें. उप प्रादेशिक परिवहन अधिकारी कार्यालय, राज्य मार्ग परिवहन महामंडल और बिजली वितरण कंपनी ने स्वास्थ्य यंत्रणा से कोरोना टीकाकरण के लिए योग्य समन्वय रखते हुए टीकाकरण मुहिम सफल बनाए़  जिले में कोरोना टेस्टिंग का प्रमाण बढ़ाना चाहिए़  ग्रामीण भागों में रहनेवाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के माध्यम से नियमित रुप से कोरोना टेस्टिंग करने की सूचना उन्होंने दी.

जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा़  आहेर ने कहा कि आगामी 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण को देश भर में शुरुआत हो रही है़  जिससे 17 जनवरी को शुरू होनेवाली राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण मुहिम आगे की गई है़  पोलियो टीकाकरण मुहिम के द़ृ़ष्टि से तैयारी पूर्ण हुई है़  कोविड-19 टीकाकरण मुहिम सरकार के मार्गदर्शक सूचना के अनुसार सुक्ष्म नियोजन व डाटा अपलोड किया है. 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण का पहला चरण शुरू हो रहा है़.

इस चरण में जिले के सभी सरकारी व निजी स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मचारी इस तरह से करीब 5,500 लोगों को टीका देने की जानकारी डा़ आहेर ने दी है. कोरोना टीकाकरण के संबंध में संबंधित अधिकारी व कर्मचारियों का प्रशिक्षण पूर्ण होने का बताकर डा़  आहेर ने आगे कहा कि कोविन एप में एन्ट्री पूर्ण हुई है.

टीकाकरण के समय टीका लेनेवालों की पोर्टल पर एन्ट्री करने के लिए संबंधित व्यक्ति ने पैनकार्ड और आधारकार्ड साथ में लाना आवश्यक है़  टीकाकरण के स्थानों पर स्वतंत्र टीकाकरण कक्ष, प्रतीक्षा कक्ष, देखरेख कक्ष इस तरह की व्यवस्था की गई है. टीका लगाने के बाद लाभार्थियों को 39 मिनट निरीक्षण में रखा जाएगा.