दो पिस्तौल, जीवित कारतूस के साथ 5 आरोपी गिरफ्तार

वाशिम. राजस्थान के कोटा शहर के केथूनीपोल थाने के अंतर्गत अमन बच्चा व उसके एक साथी ने एक व्यक्ति का खून किया. इस आरोपी को पकड़ने का प्रयास किया गया. लेकिन फायरिंग कर आरोपी घटनास्थल से फरार हो गए.

वाशिम. राजस्थान के कोटा शहर के केथूनीपोल थाने के अंतर्गत अमन बच्चा व उसके एक साथी ने एक व्यक्ति का खून किया. इस आरोपी को पकड़ने का प्रयास किया गया. लेकिन फायरिंग कर आरोपी घटनास्थल से फरार हो गए. पुलिस को जानकारी मिली कि यह आरोपी वाशिम शहर में हैं. जानकारी मिलते ही राजस्थान पुलिस के निरीक्षक मुनिंदरसिंह व बाबूलाल मीणा वाशिम पहुंचे तथा पुलिस अधीक्षक वसंत परदेसी से मिले और स्थानीय पुलिस की मदद मांगी.

पुलिस अधीक्षक वसंत परदेसी तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय कुमार चव्हाण ने सहायक पुलिस अधीक्षक डा.पवन बनसोड़ व पुलिस निरीक्षक शिवाजी ठाकरे को बुलाकर मदद करने के आदेश दिए. सहायक पुलिस अधीक्षक डा.पवन बनसोड़, एलसीबी के पुलिस निरीक्षक शिवाजी ठाकरे ने सहायक पुलिस निरीक्षक अतुल मोहनकर, पुलिस उप निरीक्षक भगवान पायधन के नेतृत्व में दो पथक तैयार कर रवाना किए.

जानकारी मिली की हत्या के गंभीर आरोपी महालक्ष्मी पेट्रोल पम्प के पीछे करीब 15 दिनों से रुके हुए हैं. पुलिस ने शाम के समय दरगाह क्षेत्र के पीछे छापा मारा तथा एक अमन अली, साजिदयाना, कोटा, राजस्थान, दूसरा गोलू उर्फ जावेद हुसैन, जलावाड, राजस्थान, मोहम्मद इसरद, साजिदयाना, कोटा, राजस्थान, मोहम्मद सलीम, डाफणी पुरा, कारंजा, मोहम्मद उमर, पुरानी सब्जी मंडी, कोटा, राजस्थान को हिरासत में लिया और उनकी झड़ती ली. जिसमें दो पिस्तौल व जीवित कारतूस मिले.

संपूर्ण जांच करने पर पुलिस को पता चला कि अमन अली, मोहम्मद इसरद इनके खिलाफ 7 जनवरी 2020 को पुलिस थाना केथूनीपोल, कोटा शहर, राजस्थान में अ.नं. 09/20 धारा 302, 307, 143, 323 भादंवि की सह कलम 3, 25, आर्म एक्ट के अनुसार अपराध दर्ज है. आरोपी गोलू उर्फ जावेद हुसैन, जलावाड, राजस्थान यह पिछले डेढ़ वर्ष से भिलवाड़ा राजस्थान पुलिस को खून के अपराध के लिए वॉन्टेड है. इसके खिलाफ राजस्थान सरकार ने पुरस्कार घोषित किया है. इसी तरह मो.सलीम, डाफणी पुरा, कारंजा, मोहम्मद उमर, पुरानी सब्जी मंडल, कोटा, राजस्थान का इस अपराध में सहभाग है.

इस कार्रवाई में वाशिम व राजस्थान पुलिस ने गंभीर अपराध करनेवाले कुल 5 आरोपियों को हिरासत में लेकर आगे कार्रवाई के लिए राजस्थान पुलिस को सौंपा हैं. इस कार्रवाई में पुलिस अधीक्षक वसंत परदेशी, अतिरक्ति पुलिस अधीक्षक विजय कुमार चव्हाण की सूचना के अनुसार सहायक पुलिस अधीक्षक डा.पवन बनसोड, पुलिस निरीक्षक शिवाजी ठाकरे, मुनिंदर सिंह, बाबूलाल मीणा, सहायक पुलिस निरीक्षक अतुल मोहनकर, पुलिस उप निरीक्षक भगवान पायघन इसी तरह राजस्थान के सात पुलिस कर्मचारी तथा एलसीबी वाशिम के सभी कर्मियों ने सहयोग दिया.