China changes it approach, top diplomat emphasizes bilateral relations with South Korea

सियोल: चीन (China) के शीर्ष राजनयिक (Diplomat) ने बृहस्पतिवार को दक्षिण कोरिया (South Korea) के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकात में द्विपक्षीय संबंधों के महत्व पर जोर दिया। देश में इस बात को लेकर चिंता है कि वह सबसे बड़े व्यावसायिक सहयोगी और सैन्य सहयोगी अमेरिका (America) के बीच संतुलन किस तरह बनाए।

दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री कांग क्यूंग व्हा से मुलाकात के बाद चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने संवाददाताओं से कहा कि कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी फैलने के बीच उनका दौरा दिखाता है कि बीजिंग (Beijing), सियोल (Seoul) के साथ संबंधों को कितना महत्व देता है। उन्होंने वायरस के खिलाफ प्रयास में सहयोग की अपील के साथ व्यापारिक संबंधों को और मजबूत करने का जिक्र किया। इसके साथ ही उन्होंने उत्तर कोरिया के साथ परमाणु गतिरोध का शांतिपूर्ण समाधान तलाशने पर भी जोर दिया।

यह पूछने पर कि क्या अमेरिका-चीन के बीच वाणिज्य, सुरक्षा और अन्य मुद्दों पर बढ़ते तनाव के बीच बीजिंग, सियोल से एक पक्ष चुनने का दबाव बना रहा है तो वांग ने कहा, ‘‘अमेरिका दुनिया का एक मात्र देश नहीं है। दुनिया में 190 देश हैं और हर देश संप्रभु है। उनमें चीन और दक्षिण कोरिया भी शामिल हैं, जो निकट पड़ोसी हैं और दोनों एक-दूसरे के यहां रिश्तेदारों की भांति दौरा करना चाहिए।”

जापान (Japan) के दौरे के बाद वांग सियोल पहुंचे और उनकी दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जाय से बृहस्पतिवार को मुलाकात करने की संभावना है। जापान में उन्होंने प्रधानमंत्री योशीहिदा सुगा (Yoshihida Suga) से मुलाकात की। वांग ने बुधवार को टोक्यो में सुगा से कहा कि वह चाहते हैं कि एशिया की दोनों शक्तियों के बीच अच्छे संबंध हों और कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई और महामारी से प्रभावित अर्थव्यवस्था की बहाली में दोनों सहयोग करें। दोनों देशों के बीच हालांकि एक द्वीप को लेकर विवाद है।