मेक्सिको में भूकंप के तेज झटके, पांच की मौत 30 घायल

मेक्सिको सिटी. दक्षिणी मेक्सिको में शक्तिशाली भूकम्प आने से कम से कम पांच लोगों की जान चली गई और कई इमारतें भी क्षतिग्रस्त हुई हैं। घबराकर हजारों लोग घरों से निकलकर सड़कों पर आ गए। मेक्सिको के राष्ट्रपति एंद्रेस मैनुएल लोपेज ओब्रादोर ने कहा कि ओक्साका के हुआतुलको में इमारत ढहने से एक व्यक्ति की जान चली गई और एक अन्य घायल हुआ है। उन्होंने कहा कि 7.4 की तीव्रता वाले भूकम्प से खिड़कियां टूटने और दीवारें ढहनें जैसे कई नुकसान होने की खबर है। ओक्साका के गवर्नर एलजांद्रो मुरात ने बताया कि सैन जुआन ओज़ोलोटेपेक के एक पहाड़ी गांव में घर ढहने से एक अन्य व्यक्ति की जान गई। वहीं एक और व्यक्ति मौत हुई है लेकिन उसकी मौत का कारण पता नहीं चल पाया।

 

संघीय नागरिक सुरक्षा प्राधिकरण ने सरकारी तेल कम्पनी ‘पेमेक्स’ में काम करने वाले एक कर्मचारी की ऊंचाई से गिरने और सैन अगस्टिन अमातेंगो के ओक्साका गांव में दीवार ढहने से एक व्यक्ति की मौत की जानकारी दी। वहीं ‘पेमेक्स’ ने कहा कि प्रशांत तट शहर सलीना क्रूज पर उसकी रिफाइनरी में भूकम्प की वजह से आग लग गई, जिसमें एक कर्मचारी घायल हो गया। आग पर काबू पा लिया गया है। भूकम्प से गिरजाघरों, पुल और राजमार्गों को भी काफी नुकसान हुआ है। राष्ट्रपति ओब्रादोर ने कहा कि भूकम्प के बड़े झटके के बाद 140 से अधिक झटके भी महसूस किए गए, जिनकी तीव्रता कम थी। राहत कार्य के लिए कई हेलीकॉप्टर वहां पहुंचे और पुलिस के सायरन भी लगातार शहर में सुनाई दे रहे हैं। ‘अमेरिकी जियोलॉजिक सर्वे’ के अनुसार मेक्सिको के दक्षिणी प्रशांत तट पर सुबह करीब 10 बजकर 29 मिनट पर 26 किलोमीटर की गहराई पर भूकम्प आया।(एजेंसी)