पैनगंगा अभयारण्य में मनाया पक्षी सप्ताह

ढाणकी. उमरखेड तहसील के पैनगंगा अभयारण्य, पांढरकवडा वन्यजीव विभाग के कोरटा व खरबी वनपरिक्षेत्र कार्यालय की ओर से पक्षी सप्ताह के उपलक्ष्य में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए. स्कूली विद्यार्थियों के लिए निबंध, चित्रकला प्रतियोगिता, वॉलीबॉल प्रतियोगिता तथा भारत जोडो युवा एकादमी की सहयोग से निसर्गप्रेमियों के लिए 11 नवंबर को पक्षी निरीक्षण यात्रा का आयोजन किया गया था.

किनवट उपविभागीय पोलीस अधिकारी मंदार नाईक,डा. अशोक बेलखोडे के साथ शैक्षणिक और सामाजिक क्षेत्रों के नागरिकों, फोटोग्राफरों, नागरिकों और कॉलेज के छात्रों ने पक्षियों के निरीक्षण का आनंद लिया.

महाराष्ट्र सरकार की ओर से वन महर्षी मारुती चितमपल्ली व पक्षी तज्ञ डा. सलीम अली के जन्मदिन के अवसर पर 5 से 12 नवंबर तक पक्षी सप्ताह मनाने का निर्णय लिया गया. जिसके लिए पांढरकवडा विभागीय वनाधिकारी सुभाष पुराणिक की संकल्पना के तहत वनपरिक्षेत्र अधिकारी विनायक खैरनार, व नितीन आटपाडकर ने कार्यक्रम का आयोजन किया था. पैनगंगा अभयारण्य के आमडापुर तालाब, मोरचंडी जंगल पक्षी निरीक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था. बर्ड वाचिंग को विशेष दूरबीन के माध्यम से व्यवस्थित किया गया और छात्रों को वनस्पतियों और जीवों के बारे में जानकारी दी गई.

इसमें प्रा. डा. अंबादास कांबले, प्रा डा. सुनील व्यवहारे, प्रा. डा. पंजाब शेरे ,प्रा. डा. वसंत राठोड, जि. प. शाला कोरटा के मुख्याध्यापक पेंटावार, कला शिक्षक शिवराज बामणीकर, संतोष तांडूरकर,  वन्यजीव छायाचित्रकार प्रतिक राठोड, संजय बोलेनवार, आकांक्षा आलणे, ऋषिकेश सुरवसे, चिन्मय कुलकर्णी, अजिंक्य आलणे आदि समेत स्कूली छात्र-छात्राएं शामिल हुई थी.

चिखली के वन विश्राम गृह में समापान समारोह में कोरटा वनपरिक्षेत्र अधिकारी विनायक खैरनार की उपस्थिति में प्रतियोगिता के विजेताओं को स्मृतिचिन्ह, प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया गया. वनरक्षक गुंडले, कुहिरे, वाठोरे, इखार आदि समेत खरबी व कोरटा वनपरिक्षेत्र के कर्मचारी ने उपक्रम में सहयोग  दिया. अभयारण्य क्षेत्र में पाए जानेवाले पक्षियों के छायाचित्र प्रदर्शन व जानकारी का कार्यक्रम जल्द ही लिया जाएगा.