FDA Approves Remadecivir as First Medication for Covid-19 Treatment in US

    अकोला. कोरोना के मरीजों के लिए उपचार हेतु आवश्यक रेमडेसिविर इंजेक्शन अवैध रूप से अकोला में बेचे जाने की सूचना मिलने पर स्थानीय अपराध शाखा ने जांच कर कुछ व्यक्तियों को हिरासत में लिया है. शहर तथा जिले में इन दिनों रेमडेसिविर इंजेक्शन की काफी कमी देखी जा रही है. कुछ समाजकंटक सिर्फ अपने आर्थिक लाभ के लिए यह इंजेक्शन अधिक दरों में बेच रहे हैं.

    एलसीबी ने टोली पकड़ी-

    शुक्रवार को अकोला एलसीबी के पीएसआई सागर हटवार व उनके दल के कर्मचारी को गोपनीय रूप से जानकारी मिली कि जय श्रीराम मेडिकल, बेसमेंट एरिया, व्यापारी संकुल, रतनलाल प्लाट में काम करने वाला आशीष मते नामक व्यक्ति रेमडेसिविर इंजेक्शन बिना कागजात के तथा बिना बिल के और बिना डाक्टर की पर्ची के दे रहा है तथा सरकार द्वारा निर्धारित दरों को एक तरफ रखकर यह इंजेक्शन 25,000 में बेचा जा रहा है.

    इस जानकारी के आधार पर पीएसआई सागर हटवार ने पंचों के साथ औषधि व अन्न विभाग के साथ जाल बिछाकर रेमडेसिविर इंजेक्शन का काला बाजार करने वाले जय श्रीराम मेडिकल में काम करने वाले आशीष मते (24) निवासी अकोला तथा उसका साथी एस.पी. सेल्स में काम करने वाला राहुल बंड को छापा मारकर इनके पास से तीन रेमडेसिविर इंजेक्शन जिसकी प्रिन्टेड कीमत 12 हजार रु. व डमी ग्राहक द्वारा दिए गए नगद 75,000 इसी तरह दो मोटरसाइकिल, दो अलग-अलग कंपनी के मोबाइल इस तरह कुल 1 लाख 67 हजार रु. की सामग्री जब्त की गयी.

    जब इन लोगों से इस बारे में सख्ती से पूछताछ की गई तो उन्होंने उनके अन्य साथी एक निजी हास्पिटल में काम करने वाले सचिन दामोदर (33) इसी तरह सार्थक मेडिकल में फार्मासिस्ट के रूप में काम करने वाला प्रतीक शाह (29) इसी तरह पहले एक निजी हास्पिटल में काम करनेवाले अजय आगरकर (25) को एलसीबी पुलिस ने गिरफ्तार कर इनके खिलाफ सिविल लाइन पुलिस थाने में विविध धाराओं के अंतर्गत अपराध दर्ज कर इन सब आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

    यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक जी.श्रीधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मोनिका राऊत के मार्गदर्शन में एलसीबी के पीआई शैलेश सपकाल, पीएसआई सागर हटवार, एएसआई राजपालसिंह ठाकुर, पुलिस कांस्टेबल अब्दुल मजीद, संदीप तवाडे, मो.रफीक, इजाज अहमद, गोपाल पाटिल, रोशन पटले, नफीस शेख, सुशील खंडारे, सतीश गुप्ता द्वारा की गयी है.