जिले में फसलों पर वानी इल्लियों का हमला, अंकुरित फसल हो रही खराब

    अकोला. जिले में अल्प बारिश के भरोसे पर खरीफ मौसम की विविध फसलों की बुआई की है. जिले में फसलों पर वानी इल्लियों ने हमला किया है. जिससे अंकुरित फसल खराब हो रही है. अंकुरित फसल को बचाने के लिए किसान जद्दोजहद कर रहा है. अल्प बारिश के भरोसे पर जिले के किसानों ने सोयाबीन, कपास, मूंग, उड़द, तुअर आदि फसलों की बुआई की है.

    लेकिन जिले में कहीं पर भी दमदार बारिश ना होने से बुआई की गई फसल किसी तरह अंकुरित हो रही है. उस पर वानी इल्लियों ने किए हमले से अंकुरित फसल खराब हो रही है. इस अंकुरित फसल को बचाने के लिए किसानों द्वारा जद्दोजहद शुरू है. इस पर कृषि विभाग ने मार्गदर्शन करने की मांग हो रही है. 

    फसल बचाने किसानों द्वारा जद्दोजहद शुरू  

    जिले में फसल पर वानी इल्ली का हमला हुआ है. खेतों में कपास व सोयाबीन की फसल पर वानी ने हमला कर फसल खराब कर रही है. भारी जमीन को बारिश कम होने से उस जमीन को पानी कम पड़ने से अंकुरित फसल वानी इल्लियां हमला कर रही है. अल्प बारिश से यह हमला हो रहा है. फसल पर कीट नियंत्रक औषधि का छिड़काव करने के लिए किसानों द्वारा जद्दोजहद शुरू है. अल्प बारिश के कारण यह समस्या आई है. 

    दुबारा बुआई का संकट

    जिले में वानी इल्लियों के प्रकोप शुरू होने से किसानों पर दुबारा बुआई करने की नौबत आ सकती है. दुबारा बुआई के लिए बीज का खर्च कहा से करें, ऐसा प्रश्न खड़ा हो गया है. कृषि विभाग ने दिए सलाह के अनुसार किसानों ने कीटनाशक औषधि का छिड़काव भी किया है. फिर भी वानी इल्लियों का हमला शुरू है. जिससे किसानों पर दुबारा बुआई का संकट आने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.