भाजपा का जिले में चक्काजाम, ओबीसी आरक्षण पर महाविकास आघाडी का निषेध

    • विभिन्न तहसीलों में तीव्र प्रदर्शन

    अमरावती. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे तथा महाविकास आघाडी सरकार की अकार्यक्षमता के कारण अदालत ने अन्य पिछड़े वर्गों का राजनीतिक आरक्षण रद्द करने का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को शहर समेत जिले के विभिन्न तहसीलों में चक्काजाम आंदोलन किया. जिससे कई मार्गों पर यातायात घंटों बाधित रहा. राज्य सरकार के खिलाफ तीव्र प्रदर्शन कर सैकडों भाजपा पदाधिकारी तथा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी.  

    अकोला वाय प्वाइंट पर आंदोलन

    अमरावती – अकोला हाइवे पर स्थित अकोला वाय प्वाइंट पर चक्काजाम आंदोलन किया. इस समय हाइवे के तीनों ओर यातायात बाधित हुआ. चक्काजाम के बाद बडनेरा पुलिस ने आंदोलनकारियों को डिटेन कर रिहा किया. महापौर चेतन गावंडे, भाजपा प्रदेश कार्यकारीणी सदस्य जयंता डेहणकर, नगरसेवक तुषार भारतीय के नेतृत्व में हुए इस आंदोलन में मंगेश खोंडे, लता देशमुख, मिना पाठक, डा.विरेंद्र ढोंबले, दिपक पोहेकर, कार्तिक सामदेकर, शाम साहू, राहूल किटूकले, राजू मेटे, ममता चौधरी, सतनाम कौर हुडा, भारती गायकवाड, संदिप अंबाडकर, पदमजा कौडंण्य, अनिता राज, बलदेव बजाज, भाग्यश्री देशमुख, लखन राज, सुनील चरडे, गजु तर्हेकर, शैलेश मेघवानी, अमृता यादव समेत बडी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुए. 

    नागपुर हाईवे पर भी प्रदर्शन 

    भाजपा के शहर अध्यक्ष किरण पातुरकर के नेतृत्व में अमरावती-नागपुर हाईवे पर रास्ता रोको आंदोलन किया गया. ट्राफिक जाम होने से पुलिस ने आंदोलनकारियों को उठाकर पुलिस वैन में डाला. जिससे कुछ देर तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई. आंदोलन में नगरसेवक सुरेखा लुंगारे, रविराज देशमुख, सचीन रासने, संध्या

    टीकले, वनीत मढगे, आशिष अतकरे, शिल्पा पाचघरे, गंगा खारकर, शितल वाघमारे, रिता मोकलकर, श्रध्दा गहलोत, वैशाली दारोकार, सुनील साहू, कुसूम साहू, मिलींद बांबल, रवि खांडेकर, गजानन देशमुख, विवेक कलोती आदि शामिल हुए. 

    अचलपुर में फिनले मिल चौक पर चक्काजाम 

    भाजपा अचलपुर मंडल ने स्थानीय फिनले मिल चौक में चक्काजाम आंदोलन किया. जिसमें भाजपा के जिला उपाध्यक्ष सुधीर रसे, जिप सदस्य प्रताप अभ्यंकर, नाना बोबड़े, नप उपाध्यक्ष शशिकांत जयस्वाल, राजन जयस्वाल, धर्मा राऊत, प्रविण तोड़गांवकर, सुमित चौधरी, गजानन शर्मा, शंकर बाशानि, राजेश सूंड़ेवाले, गौरीशंकर नंदवंशी, नितिन यादव, गिरीश भोयर, नितिन डकारे, प्रफुल कुकडे, प्रफुल कुर्हेकर समेत सैंकडों कार्यकर्ता उपस्थित थे.

    धामणगांव में दी गिरफ्तारियां

    धामणगांव तहसील अंतर्गत देवगांव चौराहें पर विधायक प्रताप अड़सड़ के नेतृत्व में भाजपा के सैकड़ों पदाधिकारी तथा कार्यकर्ताओं ने रास्ता रोकों आंदोलन कर गिरफ्तारियां दी. इस आंदोलन के चलते पुलगांव से देवगांव, तलेगांव, चांदूर, अमरावती व धामणगांव की सड़कों का यातायात पूरी रुक गया था. पुलिस ने आंदोलक विधायक अड़सड़ समेत विशाल जयस्वाल, मनोज डहाके, अनिल गोडबोले, देवेंद्र ससनकर, रवि चिजकार, अनुराग मुड़े, अशोक धनजोडे, रामप्रसाद चन्नव, मंगेश गुल्हाने, श्याम घाटे, तहसील अध्यक्ष बालासाहब शिरपुरकर, शेख क़य्यूम सहित 33 लोगों को गिरफ़्तार कर रिहा किया. 

    दर्यापुर-परतवाडा मार्ग पर रास्ता रोकों

    भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रा. दिनेश सूर्यवंशी के नेतृत्व में वलगांव टी पांईट पर रास्ता रोकों आंदोलन किया गया. इस आंदोलन के चलते दर्यापुर, परतवाडा मार्ग का यातायात एक घंटे तक ठप रहा.  पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आंदोलकों को डिटेन कर यातायात सुचारु कराया. आंदोलन में सोपान गुडधे, मामा निर्मल, विकास देशमुख, अजिंक्य वानखडे, शाम गवली, अंकुश सावरकर, कुलदीप निर्मल, पंकज यादगीरे, सवेंद्र चक्रे, मंगेश फुटाने, नितिन कटोलकर, नाना राने, सुधीर रवाले, योगेश उघड़े, अर्जुनदास सनके, कैफ खान, चेतन जूनघरे, श्रावण सातव समेत बडी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए. 

    दर्यापुर में महाविकास आघाड़ी सरकार का निषेध

    दर्यापुर में स्थानीय बस डिपों के सामने मुर्तीजापुर रोड पर महाविकास आघाड़ी सरकार के निषेध में चक्काजाम आंदोलन किया गया. भाजपा जिला उपाध्यक्ष बालासाहब वानखडे के नेतृत्व में हुए इस आंदोलन में माणिक मानकर, नाना माहुरे, मदन बायस्कर, विजय मेंढे, अनिल कुंडलवाल, मनिष कोरपे, अतुल गोले, गोपाल चंदन, अमोल वाडी, मनोज नावडकर, निलेश गावंडे, सुधीर वानखडे, स्वप्निल गावंडे, रोशन कट्यारमल, सुधिर बेलसरे, गोपाल निर्मल, उद्धव नलकांडे, सैयद नदीम, साधना मस्के, अपर्णा मुले, मीरा कावनपुरे, राजेंद्र मलिये समेत दर्यापुर भाजपा पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता शमिल हुए.

    चांदूर रेलवे में सड़कों पर ठिया 

    विधायक प्रताप अडसड के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के विरोध में नारेबाजी कर चांदूर रेलवे अमरावती मार्ग पर ठिया आंदोलन किया. थानेदार मगन मेंहते ने आंदोलनकारियों को गिरफ्तार कर रिहा किया. इस समय सर अध्यक्ष बंडू भूत, सचिन जयस्वाल, संजय पुनसे, वसंत खंडार, बबन गावंडे, रवि उपाध्याय, अजय हजारे, किशोर क्षिरसागर, डा. खंडार, पंचायत समिति सभापति देशमुख समेत कार्यकर्ता उपस्थित थे. 

    वरुड में बोंडे के नेतृत्व में चक्काजाम 

    वरुड में पूर्व कृषि मंत्री डा. अनिल बोंडे के नेतृत्व में चक्काजाम आंदोलन किया गया. इस समय सैकड़ों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर रिहा कर दिया. आंदोलन में जिलाध्यक्ष निवेदिता चौधरी, रयत क्रांति जिलाध्यक्ष आशिष वानखडे, नगराध्यक्ष डा. निलेश बेलसरे, शेंदूरजना घाट शहराध्यक्ष निलेश फुटाने, चैताली ठाकरे, मोरेश्वर वानखडे, रवींद्र थोरात, देवेंद्र बोडखे समेत कार्यकर्ता उपस्थित थे. 

    तिवसा में पेट्रोल पंप चौक में चक्काजाम

    तिवसा शहर के पेट्रोल पंप चौक पर भाजपाच्या पदाधिकारियों ने राज्य सरकार के विरोध में तीव्र निषेध जताया गया. भाजपा जिलाध्यक्ष निवेदिता चौधरी के नेतृत्व में चक्काजाम आंदोलन किया गया. इस समय तहसीलध्यक्ष निलेश श्रीखंडे, शंतनू देशमुख, मिलिंद देशमुख, श्रीकांत कांडलकर, सागर शिंगणे, प्रवीण भोजने, शेखर भातकुले, दिनेश वानखडे, भूषण देशमुख, स्वप्निल भुयार, राजू नेवारे, प्रमोद मानपुरे, राहुल थोटे समेत अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे.

    नांदगांव में हाइवे किया जाम 

    नांदगाव खंडेश्वर शहर में भाजपा के जिला महासचिव राजेश पाठक व जिला उपाध्यक्ष हरिचंद्र खंडालकर के नेतृत्व में शहर के बस स्टैंड परिसर में अमरावती – यवतमाल हाइवे पर चक्काजाम किया गया. जिससे कुछ देर तक हाइवे का ट्राफिक जाम रहा. आंदोलन में रवि मुंदे, प्रशांत वैद्य, घनशाम सारडा, दिपक तिखीले, दिपक पुसदकर, पांडुरंग काकडे, अजगर पठान, महेश कडू, पंकज मेटे, निकेत ठाकरे, दिनेश धवस, नवल खिची वैभव केने, अविनाश ब्राम्हणवाडे, भाऊराव भारसाकळे, सुरेश गंजीवाले, सुभाष मुले, गणेश माटोडे,  ऋषिकेश ढेपे, रुपाली नाकाडे, वनिता गादे, मोनाली बाबुलकर, अनिता तिखिले, वर्षा काले, जितेंद्र शिंदे आदि शामिल हुए.

    युवा स्वाभिमान का समर्थन 

    शनिवार को भाजपा द्वारा ओबीसी आरक्षण के लिए किए राज्यव्यापी चक्काजाम आंदोलन को  युवा स्वाभिमान पार्टी द्वारा समर्थन घोषित किया है. राज्य सरकार का तीव्र शब्दों में निषेध कर ओबीसी आरक्षण पूर्ववत बहाल करने की मांग वाइएसपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष निलकंठ कात्रे ने की है.

    आंदोलनकारियों पर एफआइआर

    शनिवार को जिला भर में आंदोलन होने से कड़ा बंदोबस्त लगाया गया था. पुलिस ने आदोलन करने वाले सैकड़ों कार्यकर्ताओं को डिटेन कर उनके खिलाफ आपत्ती व्यवस्थापन कानून के तहत मामला दर्ज किया. जिले के बडनेरा, नांदगांव पेठ, वलगांव, तिवसा, वरुड, धामणगांव, दर्यापूर, भातकुली, तलेगांव दशासर, अचलपुर में मामले दर्ज किए है.