सीएम हर 2 दिन में करते है समीक्षा, सीपी आरती सिंह ने बताया

    अमरावती. शहर में फरवरी महिने से तेज गति के साथ कोरोना के मरीज बढ़ रहे है. इस कारण अमरावती महानगर में लाकडाउन लगाना पडा. इस लाकडाउन को लोगों का भी सकारात्मक प्रतिसाद मिल रहा है. विशेष यह कि राज्य के मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे प्रत्येक 2 दिन में अमरावती की वर्तमान कोरोना के स्थिति की समीक्षा करते रहते है. यहां तक की गृहमंत्री अनिल देशमुख ने भी काफी सहयोग किया.

    इन सभी की मदत से कोरोना मरीजों की बढती संख्या को नियंत्रण में लाने में सहायता मिली, ऐसा पुलिस आयुक्त डा.आरती सिंह ने बताया. मुंबई में आयोजित एक समारोह में सीपी डा.आरती सिंह को महाराष्ट्रीयन आफ द इयर अवार्ड 2020 से सम्मानित किया.  इस समय वह बोल रही थी.

    भावूक हो उठी

    सीपी ने आगे कहा कि सालभर पहले जब कोरोना संकट के चलते लाकडाउन शुरु हुआ था, तब अमरावती के लोगों में बड़ी मात्रा में भय देखा गया. उन्होंने कहा कि मालेगांव यह संवेदनशील शहर है. जिससे वहां कोरोना पर नियंत्रण पाना काफी मुश्किल और जरुरी था. हमने कोरोना काल में मालेगांव में काफी परिश्रम लिया. लोगों को स्थिति समझाकर कोरोना पर नियंत्रण हासिल किया. इस दौरान हमारे कुछ पुलिस शहीद हुए, जिसका मुझे आज भी दुख है, यह बताते हुए आरती सिंह भावुक हो गई . उन्होंने कहा कि अमरावती में फरवरी महिने से कोरोना के मरीजों में वृध्दि हो रही है. जिसे देखते हुए प्रशासन ने लगाए लाकडाउन को लोगों ने भी सकारात्मक प्रतिसाद दिया है. 

    स्थिति का अभ्यास शुरू

    अमरावती की वर्तमान स्थिति पर अभ्यास शुरु है. उस पर ही अमरावती में लाकडाउन हटाने का निर्णय लिया जाएगा, ऐसा सीपी आरती सिंह ने कहा. उन्होंने कहा कि सीएम उध्दव ठाकरे यह हर दो दिन बाद फोन कर अमरावती में निर्माण हुई कोरोना की स्थिति की समीक्षा करते है. गृहमंत्री अनिल देशमुख ने भी काफी सहयोग किया. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे भी कोरोना की स्थिति पर पूछताछ करते है. इन सभी की मदत से अमरावती में कोरोना की मरीज संख्या नियंत्रण में लाने मदत हुई है.