कलेक्ट्रेट पर फूंका सोयाबीन, मुआवजे के लिए राणा आक्रमक

अमरावती. वापसी की बारिश से खेतों में बडे पैमाने पर फसलें चौपट हो गई. इस नुकसान का पंचनामा तत्काल कर किसानों को प्रति हेक्टेयर 50 हजार रुपए मदद देने की मांग के लिए सोमवार को विधायक रवि राणा के नेतृत्व में युवा स्वाभिमान कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में सड़ा-गला सोयाबीन फूंक डाला. जहां किसानों की मांगें पूरा करने में विलंब करने वाली महाविकास आघाडी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर तीव्र निषेध जताया.

सर्वे के लिए बाहर निकले सीएम

मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे के नाम से जिलाधिकारी शैलेश नवाल को ज्ञापन देकर विधायक रवि राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री मातोश्री से बाहर निकलकर किसानों के खेतों में जाये. वापसी की बारिश से हुए नुकसान का निरीक्षण करें. संतरा, तुअर, सोयाबीन, मका, ज्वार, चावल, गन्ना, मूंग, उडद जैसी फसलों का नुकसान हुआ है. जिसका सर्वे कर किसानों की मदद के लिए सरकार हाथ बढ़ाए. इस निवेदन के बाद कलेक्ट्रेट परिसर में सोयाबीन की गंजी को आग लगाकर राज्य सरकार का तीव्र निषेध जताया. इस समय युवा स्वाभिमान जिलाध्यक्ष जितू दुधाने, विनोद जायलवाल, किसान उमेश डकरे, मधू जाधव, संतोष कोलटेके, नामदेव राठोड,देवानंद राठोड, प्रवीण सोनोने, अजय घुले, पद्माकर गुल्हाने, अवि  काले, उमेश ढोणे, दीपक जलतारे, नितिन म्हस्के, शुभम उंबरकर, दीपक ताथोड उपस्थित थे. 

8 दिनों में दे न्याय 

किसानों के हितार्थ आंदोलन कर जिलाधिकारी के माध्यम से सीएम को निवेदन दिया है. किसानों की मांगें 8 दिनों के भीतर पूरी ना होने पर उन्हें न्याय दिलाने के लिए और तीव्र आंदोलन छेडा जाएगा. ऐसी चेतावनी भी  विधायक रवि राणा ने दी है.