खाम नदी के कामों का तरंग जैन ने लिया जायजा

    औरंगाबाद. शहर के सुंदरता को और बढ़ाने के लिए ऐतिहासिक खाम नदी के पुनुर्रज्जीवन प्रकल्प का काम इन दिनों जारी है। नदी के किनारे का चौडाईकरण, गहराई करण, मजबूतीकरण, वृक्षारोपण, पिंचिग तथा पेंटिंग तथा सौंदर्यीकरण के काम का वैराक कंपनी के मुख्य व्यवस्थापकीय संचालक तरंग जैन ने खाम नदी पहुंचकर वहां जारी काम का जायजा लिया।

    लोहे के पुल से बारापुल्ला गेट तक पैदल घूमकर सारे काम की जानकारी ली। अब तक हुए काम पर तरंग जैन ने समाधान व्यक्त कर प्रशंसा की। ऐतिहासिक खाम नदी के पुनर्रज्जीवन प्रकल्प का काम गत चार माह से जारी है। महाराष्ट्र सरकार के माझी वसुंधरा अभियान के अंतर्गत औरंगाबाद महानगरपालिका, स्मार्ट सिटी, वैराक कंपनी, छावनी परिषद, औरंगाबाद स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन, सीआईआई, इको सत्व, स्वयंसेवी संस्था व जनसहभाग से खाम नदी को परिवर्तित करते हुए सौंदर्यीकरण करने का काम युध्दस्तर पर जारी है। इस काम की तरंग जैन तथा सतीश मांडे ने दौरा कर जानकारी ली। इस अवसर पर वैराक कंपनी के एमडी जैन ने मनपा प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय के काम की प्रशंसा की। इस दौरे में जैन  ने बारापुल्ला दरवाजे के संवर्धन के जारी काम का भी जायजा लिया।

    इस अवसर पर उन्होंने नदी में जमा घनकचरा तथा अन्य कचरे से निर्माण होनेवाले प्रदूषण को रोकने के लिए संयुक्त व स्वतंत्र  रुप से क्या कार्रवाई की जाती इस पर चर्चा की। मनपा कमिश्नर पांडेय ने अपने मातहत अधिकारियों को मानसून  पूर्व नदी के पुर्नरुज्जीवन के प्रथम चरण के विकास कार्य पूरे करने के आदेश दिए। इस अवसर पर इको सत्व की नताशा जरिन, गौरी मिराशी और महानगरपालिका के स्वच्छता निरीक्षक असदउल्ला खान उपस्थित थे।