share market
Representational Pic

    मुंबई. शेयर बाजारों (Share Markets) में मंगलवार को लगातार चौथे कारोबारी सत्र में तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) तथा एनएसई निफ्टी (NSE Nifty) दोनों रिकार्ड ऊंचाई पर बंद हुए। निवेशकों ने महंगाई दर में वृद्धि के बजाए वैश्विक बाजारों के सकारात्मक रुख को वरीयता दी। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 221.52 अंक यानी 0.42 प्रतिशत की बढ़त के साथ 52,773.05 अंक की नई ऊंचाई पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सूचकांक 52,869.51 के अबतक के उच्चतम स्तर तक पहुंच गया था।

    इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 57.40 अंक यानी 0.36 प्रतिशत की बढ़त के साथ 15,869.25 के रिकार्ड स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स में शामिल शेयरों में 3 प्रतिशत से अधिक की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में एशियन पेंट्स का शेयर रहा। इसके अलावा एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंडसइंड बैंक, इन्फोसिस और एचडीएफसी बैंक में भी अच्छी तेजी रही।

    दूसरी तरफ बजाज फिनसर्व, डा. रेड्डीज, टाइटन, सन फार्मा, बजाज फाइनेंस और पावर ग्रिड समेत कुछ अन्य शेयर नुकसान में रहे। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 15 लाभ में रहे। खंडवार सूचकांकों में बीएसई रियल्टी सर्वाधिक 1.55 प्रतिशत मजबूत हुआ। इसके अलावा उपभोक्ता सामान, बैंक और दैनिक उपयोग के सामान (एफएमसीजी) से जुड़े सूचकांकों में तेजी रही।

    छोटी और मझोली कंपनियों के शेयरों का प्रदर्शन बेहतर रहा। बड़ी कंपनियों का सूचकांक 0.35 प्रतिशत मजबूत हुआ। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘मुद्रास्फीति में तेजी को लेकर चिंता के बावजूद वैश्विक स्तर पर सकारात्मक रुख के साथ घरेलू शेयर बाजारों में तेजी बनी रही।

    वैश्विक बाजार को फेडरल रिजर्व की दो दिवसीय बैठक के परिणाम का इंतजार है। निवेशक यह देखना चाहते हैं कि क्या केंद्रीय बैंक नीतिगत रुख में बदलाव को लेकर केई संकेत देगा।”

    उन्होंने कहा कि खाद्य वस्तुओं और ऊर्जा के दाम में तेजी से देश में खुदरा महंगाई दर मई में उछलकर 6.3 प्रतिशत पहुंच गयी। यह रिजर्व बैंक के संतोषजनक स्तर से अधिक है। हालांकि अर्थव्यवस्था खुलने के साथ इसमें नरमी की उम्मीद है।”

    एशिया के अन्य बाजारों में तोक्यो और सोल में तेजी रही जबकि शंघाई और हांगकांग गिर कर बंद हुए। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.32 प्रतिशत की बढ़त के साथ 73.09 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 2 पैसे फिसलकर 73.31 पर बंद हुआ। (एजेंसी)