ind vs eng 3rd-t20 match Who was angry with Virat for India's defeat in the third match

टीम इंडिया के कप्तान बीते दो मैचों से पूरे एंग्री यंग मैन की भूमिका में नजर आए।

    -विनय कुमार

    इंग्लैंड और भारत के बीच 5 मैचों की T20 I सीरीज (India vs England T20 Series 2021) का तीसरा मैच कल अहमदाबाद के ‘नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम’ (Narendra Modi Cricket Stadium Ahmedabad) में खेला गया। जहां इंग्लैंड ने भारत को एक बार फिर 8 विकेट से हरा दिया और सीरीज में 2-1 से बढ़त ले ली। टीम इंडिया के कप्तान बीते दो मैचों से पूरे एंग्री यंग मैन की भूमिका में नजर आए। कल के मैच में उन्होंने विस्फोटक पारी खेलते हुए 77 रन बनाए, लेकिन उनकी ये आतिशी पारी कोई काम नहीं आई और भारत को हार का मुंह देखना पड़ा। 

    एक बात जो इस मैदान पर देखने मिल रहा है कि, जिस भी टीम ने टॉस जीता वही मैच का विजेता बन रहा है। लेकिन टॉस इतना महत्वपूर्ण क्यों होता है ? 

    अपनी विस्फोटक पारी से खुश नहीं हुए विराट

    कप्तान विराट कोहली ने सीरीज के दूसरे मैच का विस्फोटक अंदाज इस तीसरे मैच में भी दिखाया। उन्होंने एक बार फिर शानदार पारी खेलते हुए 46 गेंदों पर 77 रन बनाए। उनके बल्ले से 8 चौके और 4 छक्के भी निकले। और हां बात तो ये रही कि कोहली नॉट आउट रहे। टीम इंडिया की तरफ से और कोई भी महारथी टिक नहीं पाया। हिटमैन रोहित शर्मा 17 गेंद खेलकर 15 रन बनाए और जोफ्रा आर्चर की घातक गेंद पर मार्कवुड को कैच दे बैठे और पवेलियन लौट गए। ऋषभ पंत ने 25 रन बनाए। बाकी कोई भी खिलाड़ी इंग्लैंड के शानदार गेंदबाजों के सामने खेल नहीं पाया। और भारत 20 ओवर में 6 विकेट के नुक़सान पर 156 रन किसी तरह बना सका। 

    भारत के 156 रनों के लक्ष्य के जवाब में इंग्लैंड (England) ने 10 गेंद रहते ही मुकाबला जीत लिया। इंग्लैंड के धुरंधर बल्लेबाज जोश बटलर (Josh Butler) ने 82 गेंदों पर 83 रनों की नाबाद शानदार पारी खेली और जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) ने 28 गेदों पर 40 रन बनाए।

    टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli Captain Indian Cricket Team) ने इस मैच में अपनी विस्फोटक पारी और भारत की हार पर कहा कि ऐसी पारी का कोई फायदा नहीं है जो टीम को जीत ना दिला सके। उन्होंने कहा कि नई गेंद के साथ मुश्किल विकेट ज़रूर था, जहां पर गेंदबाजों को सहायता मिल रही थी।

    इंग्लैंड के गेंदबाजों ने पानी पिला दिया

    टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज और कप्तान विराय कोहली ने इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों की भी तारीफ और कहा कि भारत को एक छोटी साझेदारी करने मिली और फिर हार्दिक पंड्या के साथ भी एक पार्टनरशिप अंत में हुई। अपनी बल्लेबाजी को लेकर उन्होंने कहा, “मैं पारी के अंत तक रहा, क्योंकि मैं जानता था एक सेट बल्लेबाज के लिए विकेट का पेस और बाउंस भांपना आसान होगा। और ऐसा करके हम अच्छा टोटल स्कोर बना सकते थे।”

    मैच जीतने के लिए टॉस की भूमिका पर कप्तान विराट कोहली ने टॉस ने कहा, “अगर आप टॉस हारते हैं तो जो भी आपको कहा जाता है, करने के लिए तैयार रहिए। इंग्लैंड के गेंदबाज़ों ने नई गेंद के साथ बहुत शानदार गेंदबाजी की। शुरू के 6 ओवर में उन्होंने हमें कोई भी मौका नहीं दिया और खेल को बहुत ही मुश्किल बनाए रखा।”

    ऑल राउंडर की भूमिका जरूरी

    कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा, “हमने भी वापसी की कोशिश की लेकिन मैं नहीं समझता कि सेकेंड हाफ में (गेंदबाज़ी और फील्डिंग) फील्डिंग के दौरान हमारी बॉडी लैंग्वेज अच्छी थी। यह सही नहीं था। 160 रनों के लक्ष्य को डिफेंड करने में आपको जो इंटेंसिटी और एनर्जी चाहिए होती है वह नहीं दिखी।”

    विराट ने टीम में और ऑलराउंडर को भी फिट करने की भी जरूरत बताई। उन्होंने कहा, “आपको देखना होगा कि एक टीम में और कौन से ऑलराउंडर फिट हो सकते हैं। हम हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) को और जिम्मेदारी देना चाहते हैं। क्योंकि वह इस टीम को आगे बढ़ाने बढ़ाने वाले खिलाड़ी हैं। साथ ही उनकी गेंदबाजी भी बेहतर है।”