वो 5 खिलाड़ी जो CSK छोड़ कहीं और गए, क्या हुआ उनका

    – विनय कुमार

    IPL T20 दुनिया में सबसे लोकप्रिय T20 फ्रैंचाइजी लीग क्रिकेट टूर्नामेंट है, जिसमें कई नामचीन खिलाड़ी खेलते है और कई इसमेंं मौका मिलने का इंतजार भी करते हैं। लेकिन, एक सच ये भी है कि टीम में मौका मिलने के बाद खिलाड़ियों के लिए यहां पर अपनी जगह बनाना आसान नहीं होता, बड़ी कठिन चुनौती होती है।  

    अब ‘चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को ही ले लीजिए। IPL की सबसे सफल टीम में से एक है। इस टीम ने कई शानदार खिलाड़ी के जानदार प्रदर्शन भी दिखाए। कुछ को ठीक से मौका भी नहीं मिला। लेकिन, कई खिलाड़ी ऐसे भी रहे, जिन्होंने इस टीम को छोड़ने के बाद नाम कमाया। यानी, ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ को छोड़ने के बाद उनकी किस्मत का दरवाजा खुल गया और भगवान ने छप्पर फाड़ कृपा बरसाई। 

    क्रिस मॉरिस (Chris Morris)

    साउथ अफ्रीका का घातक तेज़ गेंदबाज और बेहतरीन ऑलराउंडरक्रिस मॉरिस ने 2013 में ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ के साथ आईपीएल की यात्रा की शुरुआत की थी। सभी जानते हैं कि क्रिस एक घातक तेज गेंदबाज हैं, जो डेथ ओवर में बेहद गेंदबाजी कर सकते हैं। यही नहीं निचले क्रम के एक बेहतरीन बल्लेबाज भी हैं, जो डेथ ओवर में तेजी से रन भी बना सकते हैं। ऐसे खिलाड़ियों की ही T20 क्रिकेट में जरूरत होती है। 

    क्रिस मॉरिस ने अपने पहले सीजन में कुल 16 मैच खेले थे, जिनमें उनका बल्ला कुछ खास नहीं बोल पाया। हां, उस सीज़न में उनके हिस्से 14 विकेट ज़रूर आए थे। उसके अगले सीजन IPL 2014 में वो किसी कारण नहीं खेल पाए और बाद में ‘दिल्ली डेयरडेविल्स’ की टीम में शामिल हुए। फिर  ‘राजस्थान रॉयल्स’ (RR) ने उन्हें अपनी टीम में ले लिया। इसी साल बीते महीने 18 फरवरी को चेन्नई में हुई आईपीएल की नीलामी में वे सबसे महंगी कीमत पर बिके। 

    विजय शंकर (Vijay Shankar)

    विजय शंकर (Vijay Shankar) 2014 में ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (CSK) के लिए भी खेल चुके थे। उस वक्त वो बिलकुल युवा थे और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी पहचान बनाने की जुगत मेंं थे। 2014 में उन्हें सिर्फ 1 मैच में खेलने का मौका मिला, जिसमें उन्होंने गेंदबाजी में एक ओवर में 19 रन दे दिए थे, जबकि बल्लेबाजी करने का मौका उन्हें नहीं मिला था। उस सीजन के बाद उन्हें टीम से रिलीज कर दिया गया। 

    ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ से रिलीज़ किए जाने के बाद ‘सनराइजर्स हैदराबाद’ (SRH) ने उन्हें खरीद लिया। उस टीम के साथ अपने पहले सीजन में उन्हें 4 मैचों में खेलने का अवसर मिला। उसके बाद ‘दिल्ली डेयरडेविल्स’ की टीम में शामिल हुए। फिलहाल वह ‘सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) की टीम में हैं।

    रिद्धिमान साहा (Vriddhiman Saha)

    पश्चिम बंगाल के रिद्धिमान साहा आईपीएल के आरंभ से ही, यानी 2008 से ही इस लीग का हिस्सा हैं। उन्होंने ‘कोलकाता नाइट राइडर्स’ (KKR) के साथ खेलते हुए अपनी IPL T20 की यात्रा की शुरुआत की थी और 3 साल इस टीम के साथ बने रहे। 2011 में ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (CSK) ने उन्हें अपनी टीम में ले लिया। लेकिन उनके करियर में CSK फला नहीं। इस गीत में रहते 3 सालों में उन्हें सिर्फ 14 मैच ही खेलने मिले, जिनमें उन्होंने कुल 144 रन बनाए।

    हां, IPL में उनके करियर में उछाल तब आया, जब ‘किंग्स इलेवन पंजाब’ (अब ‘पंजाब किंग्स’) ने साल 2014 में उनको अपनी टीम में लिया। इस टीम में वो रेगुलर विकेटकीपर-बल्लेबाज (Vriddhiman Saha Wicketkeeper-Batsman) बने रहे। इस टीम में उन्होंने 4 साल में 57 मैच खेले। विकेट कीपर के तौर पर उन्होंने 48 शिकार किए और एक बल्लेबाज के तौर पर  बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 1115 रन भी बनाए। उनकी सबसे शानदार और यादगार पारी 2014 के फाइनल में ‘कोलकाता नाइट राइडर्स’ (KKR) देखने को मिला था। उस मैच में उन्होंने 115 रनों की नाबाद विस्फोटक पारी खेली थी। फिलहाल बीते 2 साल से (2018 से) रिद्धिमान साहा  ‘सनराइजर्स हैदराबाद’ (SRH) की टीम में हैं।

    सैमुअल बद्री (Samuel Badree)

    भारतीय मूल के वेस्ट इंडीज के घातक स्पिनर सैमुअल बद्री (Samuel Badree) ने अपनी IPL की यात्रा की शुरुआत 2013 में ‘राजस्थान रॉयल’ (RR) के साथ की थी और 2014 में वो ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (CSK) के हो गए। उस सीजन में CSK की तरफ से उन्हें सिर्फ 4 मैचों में खेलने का मौका मिला था और उनके खाते 2 विकेट आए थे। ज़ाहिर सी बात थी, जिस टीम में रविचंद्र अश्विन (Ravichandran Ashwin) और रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) जैसे वर्ल्ड क्लास स्पिनर पहले से टीम में थे, बद्री को मौका मिलना मुश्किल ही था।

    2017 के सीज़न में सैमुअल बद्री को ‘रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू’ ने खरीदा और इस बेहतरीन लेग स्पिनर की किस्मत का ताला खुलना शुरू हो गया। RCB की तरफ से अपने मैच में उन्होंने हैट्रिक (Hat-Trick Samuel Badree IPL T20) लगाई। उनकी ये हैट्रिक आईपीएल की बेहद मजबूत टीम ‘मुंबई इंडियंस’ (MI) के खिलाफ थी। उन्होंने लगातार 3 गेंदों में ‘मुंबई इंडियंस’ के 3 विकेट उड़ा दिए थे। उनमें से एक गेंद के शिकार ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा थे। उस रोमांचक मैच में उन्होंने 4 ओवर में 9 रन देकर 4 विकेट चटकाए थे।  

    जॉर्ज बेली (George Bailey)

    ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ बल्लेबाज और पूर्व कप्तान जॉर्ज बेली (George Bailey) 2009 में आईपीएल (IPL T20 Tournament) से जुड़े। ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (CSK) ने उस सीजन में उन्हें उनकी बेस प्राइस में खरीदा था। जॉर्ज 2 साल तक CSK के साथ थे, लेकिन सिर्फ़ 4 मैचों में ही खेलने का मौका दिया गया। उस दरम्यान वो अपना खेल का जलवा नहीं दिखा सके और टीम से रिलीज हो गए। 

    इसके बाद ‘किंग्स इलेवन पंजाब’ (KXIP) ने 2014 में उन्हें अपनी टीम में शामिल किया। जॉर्ज बेली (George Bailey) teem के कप्तान भी बने। 2015 में भी खेले, लेकिन  पुराना बेहतरीन प्रदर्शन दोहरा नहीं पाए। 2016 में  ‘राइजिंग पुणे सुपरजॉयंट’ की टीम ने  उनको अपनी टीम में शामिल किया। कुछ मैच खेले भी लेकिन किस्मत उन पर मेहरबान नहीं हुई और वक्त के साथ निकल भी गए।