BBL को लेकर ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड पर क्यों भड़के शेन वॉटसन ?

वक़्त के साथ क्रिकेट (Cricket) के फॉर्मेट (Format) और नियम-प्रावधान (Rule Provision) में भी कई बदलाव देखे गए हैं। क्रिकेट प्रेमियों में क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ाने और बरकरार रखने के लिए प्रयोग किये जाते रहे हैं। टेस्ट फॉर्मेट के बाद वनडे और वनडे के बाद T20 का फॉर्मेट सामने आया। लोकप्रियता सभी के सामने है। इसी सिलसिले में क्रिकेट को और पसंदीदा और दिलचस्प बनाने की जुगत में ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया’ की तरफ से ‘बिग बैश लीग’ (Big Bash League) में 3 नए नियम के लागू किये जाने की बात हमें नज़र आएगी।  

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) ने 10 दिसंबर से शुरू होने जा रहे ‘बिग बैश लीग’ (Big Bash League) ) के ताज़ा सीज़न (BBL Season 10) के लिए पावर सर्ज (Power Surge), एक्स फैक्टर (X-Factor) और बैश बूट (Bash Boot) नियमों को अमल में लाने का फैसला किया है। इन नियमों के तहत मैच में खिलाड़ियों को रिप्लेस करने, बल्लेबाजों के लिए पावरप्ले (Power-play) और टीमों को बोनस अंक देने का प्रावधान होगा। 

 

‘बिग बैश लीग’ (Big Bash League) में लागू होने जा रहे इस नए नियम को लेकर क्रिकेट पंडित और दिग्गज खिलाड़ियों की प्रतिक्रियाएं भी आ रही हैं। टीम ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर और और धुरंधर शेन वॉटसन ने इन नए नियमों पर आपत्ति जताई और ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया” को आड़े हाथों लिया।  

शेन वॉटसन ने कहा, “मैंने आज पढ़ा कि BBL में नई जान फूंकने के लिए बोर्ड पावर सर्ज (Power Surge), एक्स फैक्टर (X-Factor) और बैश बूट (Bash Boot) जैसे नियम लागू करने जा रहा है। मुझे लगता है कि यह एक बेकार प्रयास है। मुझे एक बात समझ नहीं आती कि जो चीज खत्म ही नहीं हुई है आप उसे दोबारा जीवनदान कैसे दे सकते हैं।”

ध्यान देने की बात है कि इन सभी नियमों का इस्तेमाल 10 ओवर के बाद ही किया जा सकता है। जिसमें पावर सर्ज (Power Surge) के मुताबिक टीम के पास 2 ओवर का ‘बैटिंग पावरप्ले’ लेने का ऑप्शन होगा, जो कि टीम 10वें ओवर के बाद कभी भी ले सकती है। वहीं दूसरी तरफ, जरूरी पावरप्ले को 6 के बजाय 4 का कर दिया गया है। एक्स फैक्टर (X-Factor) नियम के तहत दोनों टीमों के पास 10वें ओर के बाद एक बल्लेबाज या फील्डिंग में एक गेंदबाज को बदलने का विकल्प होगा, खिलाड़ी वो होगा जो ‘प्लेइंग इलेवन’ का हिस्सा न रहा हो। हालांकि, इस नियम के तहत जिस खिलाड़ी के साथ रिप्लेस किया जाएगा, वह चल रहे मैच में एक ओवर से ज़्यादा गेंदबाजी न किया हो।  

BBL (Big Bash League) में ‘बैश बूट’ (Bash Boot) के तहत उस टीम को बोनस अंक दिया जाएगा जिसने 10 ओवर के खेल के बाद ज्यादा स्कोर बनाया होगा।

गौरतलब है कि, ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी शेन वॉटसन हाल ही संपन्न हुए आईपीएल 2020 में महेंद्र सिंह धोनी की ‘येलो आर्मी’ चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की टीम की तरफ से मैदान में नज़र आए थे। IPL 2020 के बाद शेन वॉटसन ने प्रोफेशन क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी।  

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया’ की तरफ से नए नियमों को लेकर शेन वॉटसन का मानना है कि अगर BBL में ये नियम लागू कर दिए जाते हैं, तो यह खेल को रोमांचक बनाने की बजाय क्रिकेटर्स के लिए मुश्किल पैदा करेंगे। उन्होंने कहा कि, ‘बिग बैश लीग’ में होने वाले इस नये प्रयोग से खिलाड़ी और टीम के कोच ही नहीं बल्कि क्रिकेट प्रेमियों के लिए भी कठिनाई पैदा होंगी। वॉटसन ने कहा कि, इन नियमों को इस लीग (BBL) में लागू करने से पहले निचले स्तर पर लागू करके इसे परखना बेहतर होता।  

– विनय कुमार