Covid-19 probe results from smartphone will be found in less than 30 minutes
Representative Image

Loading

नई दिल्ली : विद्यार्थियों के आग्रह के बाद साझा विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा-स्नातक (CUET-UG) के वास्ते आवेदन की खिड़की तीन दिन के लिए फिर से खोली गई है। इसके साथ ही यह भी साफ कर दिया गया है कि राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की ओर से पाठ्यपुस्तकों को युक्तिसंगत बनाने के लिए उनमें किए गए बदलावों के बावजूद परीक्षा से संबंधित पाठ्यक्रम में परिवर्तन नहीं होगा। 

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के प्रमुख जगदीश कुमार ने कहा, “कई विद्यार्थियों के अनुरोध के बाद हमने रविवार, सोमवार और मंगलवार को सीयूईटी-यूजी के लिए आवेदन पोर्टल को फिर से खोलने का फैसला किया है। यह पोर्टल मंगलवार (11 अप्रैल 2023) को रात 11.59 बजे बंद हो जाएगा।” सीयूईटी-यूजी के लिए तकरीबन 14 लाख विद्यार्थियों ने आवेदन किया है, जो पिछले साल से 41 प्रतिशत अधिक है। 

एनसीईआरटी की पुस्तकों को युक्तिसंगत बनाए जाने के बाद स्नातक प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे विद्यार्थी इस बात को लेकर भ्रमित थे कि क्या परीक्षा के लिए भी पाठ्यक्रम में बदलाव होगा। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “अधिसूचित पाठ्यक्रम वही रहेगा, क्योंकि परीक्षा किसी विशेष बोर्ड के विद्यार्थियों के लिए नहीं है। सभी बोर्ड ने सामग्री को युक्तिसंगत नहीं बनाया है।” 

मालूम हो कि सीयूईटी-यूजी परीक्षा आवेदन की संख्या के लिहाज से देश की दूसरी सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा है। मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होने वाली राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा स्नातक (नीट-यूजी) भारत में सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा है। इसमें हर साल औसतन 18 लाख अभ्यर्थी बैठते हैं। पहले, सीयूईटी-यूजी के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 मार्च थी। वहीं, परीक्षा 21 से 31 मई तक आयोजित की जानी है। (एजेंसी)