कृषि मंत्री तोमर की किसानों को दो टूक, भीड़ से कानून नहीं बदलते, कमियां क्या हैं वो बताओ?

    ग्वालियर: कृषि कानूनों (Agriculture Bill) को लेकर किसान संगठन (Farmer Organizations) पिछले 85 दिन से आंदोलन (Protest) कर रहे हैं। वह लगातार सरकार से तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हुए हैं। किसान संगठन के इस रवैये पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने रविवार को दो टूक कहते हुए कहा कि, “भीड़ जमा करने से कानून नहीं बदलने वाला, कमियां क्या हैं वो बताओ?”

    किसान पहले कमियां बताए?

    मध्यप्रदेश के ग्वालियर (Gwalior) में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पूछे सवाल पर जवाब देते हुए तोमर ने कहा, “सरकार ने कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे किसान संगठनों के 12 दौर की बातचीत कर चुके हैं। लेकिन किसान कानून में कमियां बताने के बजाय तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। भीड़ इकठ्ठा कर लो और बोलो इसे वापस लो ऐसा नहीं होता।”

    सरकार कानून में बदलाव को तैयार 

    कृषि मंत्री ने कहा, “किसान संगठन कानून वापस लेने के बजाय इसमें कमियां क्या है वह बताए। सरकार वह सभी कमियां सुधारने और कानून में संशोधन करने के लिए तैयार है।किसान बताए कौनसे प्रावधान है जो किसानों के लिए गलत है, हम उसे बदलने के लिए तैयार है।” उन्होंने कहा, “सरकार आज भी प्रावधानों को बदलने के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) खुद इस बारे में कई बार बोल चुके हैं।”