khandu

ईटानगर. अरुणाचल प्रदेश(Arunachal Pradesh) के मुख्यमंत्री पेमा खांडू (Pema Khandu) ने कहा है कि मौजूदा हालात 1962 से अलग हैं और भले ही चीन इस क्षेत्र पर चाहे जितनी भी बार अपना दावा जताता रहे, राज्य की जनता तथा भारतीय सेना पीछे नहीं हटने वाली।

खांडू ने 1962 के भारत-चीन युद्ध में शहीद हुए सैनिक सूबेदार जोगिन्द्र सिंह के सम्मान में अरुणाचल प्रदेश में भारत-तिब्बत सीमा पर स्थित एक दर्रे बूम ला में शुक्रवार को आयोजित एक कार्यक्रम में यह बात कही।

उन्होंने कहा, ”यह 1962 नहीं, 2020 है। समय अब बदल चुका है। जम्मू-कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक, हम पूरी तरह तैयार हैं। जरूरत पड़ी तो अरुणाचल प्रदेश के लोग भारतीय सेना के साथ खड़े होने के लिये भी तैयार हैं।” चीन अरुणाचल प्रदेश को भारतीय राज्य के रूप में मान्यता नहीं देता है और इसे दक्षिण तिब्बत का हिस्सा बताता है। भारत चीन के इस दावे को हमेशा खारिज करता रहा है।