corona vaccination
File Photo

    नयी दिल्ली: टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण के तहत एक मई को 18 से 44 आयु वर्ग के कुल 86,023 लाभार्थियों को 11 राज्यों में कोविड टीके की खुराकें दी गई हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शनिवार से शुरुआत के बाद देश में अब तक दिए कोविड-19 टीकों की खुराकें 15.68 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई है। मंत्रालय ने कहा, “18-44 आयु वर्ग में 86,023 लाभार्थियों को 11 राज्यों में कोविड टीके की पहली खुराक दी गई।” ये 11 राज्य छत्तीसगढ़ (987), दिल्ली (1,472), गुजरात (51,622), जम्मू-कश्मीर (201), कर्नाटक (649), महाराष्ट्र (12,525), ओडिशा (97), पंजाब (298), राजस्थान (1,853), तमिलनाडु (527) और उत्तर प्रदेश (15,792) हैं। 

    मंत्रालय ने कहा कि सुबह सात बजे तक की अनंतिम रिपोर्ट के मुताबिक, कुल मिलाकर 22,93,911 सत्रों के माध्यम से 15,68,16,031 खुराकें दी जा चुकी हैं। इनमें 94,28,490 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली खुराक और 62,65,397 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है। वहीं, अग्रिम मोर्चा के 1,27,57,529 कर्मियों को पहली और 69,22,093 कर्मियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है। 

    इनमें 18-44 आयु वर्ग के 86,023 लाभार्थी भी शामिल हैं। इसके अलावा 60 वर्ष से अधिक उम्र के 5,26,18,135 को पहली और 1,14,49,310 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है जबकि 45 से 60 आयु वर्ग के 5,32,80,976 लाभार्थियों को टीके की पहली और 40,08,078 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है। 

    देश में अब तक दिए गए 67 प्रतिशत टीके महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, केरल, बिहार और आंध्र प्रदेश में दिए गए हैं। पिछले 24 घंटों में 18 लाख से अधिक टीके दिए गए। टीकाकरण अभियान के 106वें दिन (एक मई) 18,26,219 टीके दिए गए। 15,968 सत्रों के माध्यम से 11,14,214 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक और 7,12,005 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी गई। 

    मंत्रालय ने कहा कि भारत सरकार ने राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के साथ मिलकर देश में कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचाव, रोकथाम एवं प्रबंधन के लिए पांच मुद्दों पर केंद्रित रणनीति बनाई है। टीकाकरण इस रणनीति का अभिन्न हिस्सा है जिसमें जांच, संपर्कों की खोज, इलाज और कोविड अनुकूल व्यवहार भी शामिल हैं। देश में संक्रमण का इलाज करा रहे कुल मरीजों में से 81.22 प्रतिशत मरीज 12 राज्यों से हैं। 

    मंत्रालय ने बताया कि अब तक 29 करोड़ से अधिक जांच की गई है जबकि कुल संक्रमण दर बढ़कर 6.74 प्रतिशत हो गई है। इसने कहा कि संक्रमण से राष्ट्रीय मृत्यु दर घट रही है और वर्तमान में यह 1.10 प्रतिशत है। (एजेंसी)