मुस्लिम आरक्षण: गठबंधन टूटा, तो हम करेंगें शिवसेना का समर्थन- भाजपा

मुंबई: मुस्लिम आरक्षण के मुद्दे पर शिवसेना अगर राष्ट्रवादी कांग्रेस और कांग्रेस के साथ गटबंधन खत्म करती है, तो हम सरकार में शिवसेना का समर्थन करेगें. महाराष्ट्र के पूर्व वित्त मंत्री और विधायक सुधीर

मुंबई: मुस्लिम आरक्षण के मुद्दे पर शिवसेना अगर राष्ट्रवादी कांग्रेस और कांग्रेस के साथ गटबंधन खत्म करती है, तो हम सरकार में शिवसेना का समर्थन करेगें. महाराष्ट्र के पूर्व वित्त मंत्री और विधायक सुधीर मुनगंटीवार ने मंगलवार को यह बात कही. 

बतादें कि, मुस्लिम आरक्षण के मुद्दे पर शिवसेना और एनसीपी के बीच मतभेद उत्पन्न होगया हैं. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मालिक जहा मुस्लिमों को आरक्षण देने के लिए प्रस्ताव लाने की बात कही थी. वहीँ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि अभी मुस्लिम को आरक्षण देने का कोई प्रस्ताव नहीं हैं. 

पत्रकारों से बात करते हुए सुधीर मुनगंटीवार ने कहा, " धर्मं के आधार पर आरक्षण देने पर हमारे पार्टी का रुख स्पस्ट हैं. हम इसका विरोध करते हैं. उन्होंने कहा, " मुस्लिम आरक्षण पर शिवसेना का मौजूदा रुख बिलकुल सही हैं. संविधान में धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जाता." 

यह भी पढ़े: शिवसेना के विधायक भास्कर जाधव को भाजपा की ऑफर

मुनगंटीवार ने कहा, " शिवसेना संविधान की बात कर रही हैं. आगर धर्म के आधार पर आरक्षण देने है तो फिर इसाई और सिखों ने क्या गलती की हैं?.

शिवसेना को चिंता नहीं करना चाहिए 
भाजपा नेता ने कहा, " मुस्लिम आरक्षण पर कांग्रेस और एनसीपी अगर दवाब बना रही होंगी तो शिवसेना को चिंता नहीं करना चाहिए." ." उन्होंने कहा, शिवसेना के साथ हमारा गठबंधन सिद्धांत के मुद्दे पर था. अगर वह गठबंधन से बाहर आते हैं, तो हम उनका एक हद में रह कर समर्थन करेगें."

सरकार ने की है व्यस्था 
पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, " केंद्र सरकार ने पहले ही सामान्य वर्ग को 10 प्रतिशत आरक्षण देकर इसकी व्यवस्था कर चुकी हैं. जिसमे सभी धर्मो के लोग आते हैं."