हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का ऐलान – 28 से 40 घंटों में निकलेगा हल

नई दिल्ली: कृषि क़ानूनों (Agriculture Bill) पर किसानों का आंदोलन (Farmer Protest) आज 17वे दिन में पहुंच गया है. किसान अपनी मांगों पर आड़े हुए हैं। इसी बीच हरियाणा (Haryana) के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) से मुलाकात की। बैठक के बाद बाहर निकले चौटाला ने बड़ी बात कही, उन्होंने कहा- आने वाले 28 से 40 घंटों में निकलेगा हल।”

चौटाला ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि केंद्र और किसान संघ के बीच आपसी सहमति है और हम इस मुद्दे को बातचीत से हल कर सकते हैं। मैं अगले  28 से 40 घंटे के लिए आशान्वित हूं, वार्ता का एक और दौर होगा और कुछ निर्णायक हल निकल सकता हैं।”

राजनाथ सिंह और पियूष गोयल से भी की मुलाकात 

किसान आंदोलन को लेकर दुष्यंत चौटाला पर लगातार किसान संगठन दवाब बना रहे थे इसी को लेकर चौटाला ने कृषि मंत्री से पहले किसानों से बात करने के लिए बनाएं गए मंत्री समूह में शामिल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रेल मंत्री पियूष गोयल से भी मुलाकात की इस दौरान उन्होंने सरकार से जल्द से जल्द आंदोलन को समाप्त करने और निर्णय पर पहुंचने की मांग की 

आपसी सहमति से एक रास्ता मिल जाएगा

चौटाला ने कहा, “किसानों के प्रतिनिधि के रूप में उनके अधिकारों को सुरक्षित करना मेरी जिम्मेदारी है। मैंने केंद्रीय मंत्रियों के साथ इस विषय पर चर्चा की, मुझे उम्मीद है कि आपसी सहमति से एक रास्ता मिल जाएगा और गतिरोध का समाधान हो जाएगा। केंद्र सकारात्मक है।” 

किसान आंदोलन में खालिस्तानी नारे और लेफ्ट प्रो लोगों द्वारा हाईजैक करने की टिप्पणी पर दुष्यंत ने कहा, “जो लोग पंजाब से आए हैं, उनका सकारात्मक आचरण है और हम उम्मीद करते हैं कि यह एक ही रहे, और उनके बीच कोई ऐसा तत्व नहीं पाया गया जो आंदोलन को अलग दिशा दे सके।”

एमएसपी नहीं लागू किया तो छोड़ दूंगा पद

इसके पहले हरियाणा के उप मुख्यमंत्री ने कहा था कि राज्य में किसानों को छह फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य दिया जा रहा है। जबकि किसी अन्य राज्य में नहीं मिलता है। हम किसानों को एमएसपी दर दिलवाने के समर्थन में है। चौटाला ने कहा, “जिस दिन किसानों के एमएसपी से छेड़छाड़ की गई तो तुरंत अपने पद से इस्तीफा देदूंगा।