Mobile lab launched to check and check corona in remote areas

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का प्रसार बड़ी तेजी से हो रहा है. एक समय तक शहरों में सीमित कोरोना अब गांवों में भी अपने पैर पसार रहा है. जिसके वजह से सरकारों कर प्रशासन के माथे पर चिंता की लकीरें खड़ी हो गई है. जिसको देखते हुए गुरुवार को केंद्र सरकार ने कोरोना जांच के लिए मोबाइल लैब लॉन्च की है. इस चलती फिरती लैब के माध्यम से देश के दुर्गम और दूर दराज़ के क्षेत्रों में कोरोना जाँच करने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। 

एक दिन में 25 आरटी-पीसीआर परीक्षण
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने राजधानी दिल्ली में कोरोना परीक्षण के लिए भारत की पहली मोबाइल लैब शुरू की. जिसे देश के आंतरिक, दुर्गम भागों में तैनात किया जाएगा। इस लैब से एक दिन में  25 आरटी-पीसीआर परीक्षण, 300 एलिसा परीक्षण और टीबी, एचआईवी के लिए सीजीएचएस दरों के अनुसार परीक्षण करने की क्षमता होगी।

दूर-दराज के क्षेत्रों में परीक्षण सुविधाओं को सुनिश्चित करने का काम 
लैब के उद्घाटन के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, हमने फ़रवरी में एक प्रयोगशाला के साथ COVID के खिलाफ लड़ाई शुरू की थी। आज हमारे पास देश भर में 953 प्रयोगशालाएँ हैं। इन 953 में से, 699 के आसपास सरकार लैब हैं। दूर-दराज के क्षेत्रों में परीक्षण सुविधाओं को सुनिश्चित करने के लिए, ऐसे नवाचार विकसित किए गए हैं.