modi

नयी दिल्ली.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध (Indo-Pak War) के 50 साल पूरा होने के अवसर पर बुधवार को राजधानी दिल्ली स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक की अमर ज्योति से ‘‘स्‍वर्णिम विजय मशालें” प्रज्‍ज्वलित कर उन्हें देश  (India)के विभिन्न हिस्सों में रवाना किया।

क्या था आज ख़ास:

विजय दिवस के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (CDS) विपिन रावत (Bipin Rawat) और तीनों सेनाओं के प्रमुख उपस्थित थे। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर 1971 के युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर लगातार जलती रहने वाली ज्‍योति से चार विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित कीं और उन्‍हें 1971 के युद्ध के परमवीर चक्र और महावीर चक्र विजेताओं के गांवों सहित देश के विभिन्‍न भागों के लिए रवाना किया। इन विजेताओं के गांवों के अलावा 1971 के युद्ध स्‍थलों की मिट्टी को नई दिल्‍ली के राष्‍ट्रीय युद्ध स्‍मारक में लाया जाएगा।

क्यों मानते हैं विजय दिवस:

उल्लेखनीय है कि ’16 दिसंबर’ (16 December) भारत में विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन पाकिस्तान के खिलाफ 1971 में भारत को जीत मिली थी, जिसके फलस्वरूप एक देश के रूप में बांग्लादेश अस्तित्व में आया था।

Four ‘Victory Mashaals’ (flames) lit from the Eternal Flame of National War Memorial will be carried to various parts of the country including to villages of Param Vir Chakra and Maha Vir Chakra awardees of 1971 war#VijayDiwas2020 https://t.co/sB4CaNVVP0 pic.twitter.com/VDeuSG7XZI

— ANI (@ANI) December 16, 2020