samosa
Courtsey: Somerset Live

नयी दिल्ली. विश्व(World) में लोगों ने यूँ तो अनगिनत रिकॉर्ड (Record) बनाएं हैं और लेकिन लोग नए अजीबोगरीब रिकॉर्ड बनाने के लिए क्या कुछ नहीं करते। कुछ ऐसा ही अनूठा प्रयास किया गया जिसमे एक व्यक्ति ने एक समोसे (Samosa) को अंतरिक्ष (Space) में भेजने की योजना बनायी। अब क्या यह बेचारा ‘समोसा’ अंतरिक्ष पहुंच पाया? आइये जानते हैं :  

Courtsey: Chai Wala 

दरअसल ब्रिटेन में एक भारतीय रेस्तरां  (Indian restaurant) ने सफलतापूर्वक एक ‘समोसा’ अंतरिक्ष में भेजा, लेकिन अंतरिक्ष में पहुंचने से पहले ही वो समोसा फ्रांस में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। बाथ (Bath) में सबसे अच्छे रेस्तरां में से एक, चाय वाला (Chaiwala), आखिरकार तीन प्रयासों के बाद समोसे (Samosa) को अंतरिक्ष मिशन में भेजने में कामयाब रहा।

Courtsey: Chai Wala 

दरअसल यह काम किया है ‘चाय वाला’ (Chaiwala) रेस्टोरेंट के मालिक नीरज गधेर (Niraj Gadher) ने। उनका कहना था कि वे तो सिर्फ लोगों में खुशियां फैलाना चाहते थे, इसलिए वे समोसा को अंतरिक्ष में भेजने का अनूठा आईडिया लेकर आए।  उन्होंने बताया, कि “मैंने एक बार ऐसे ही मजाक के रूप में कहा था कि मैं एक दिन अंतरिक्ष में एक समोसा भेजूंगा और फिर मैंने सोचा कि यह आईडिया इस जटिल समय के दौरान हम सभी के हंसने के लिए ये एक नयी दे सकता है।”

Courtsey: Chai Wala 

अपने इस प्रयास में नीरज ने ‘समोसे’ को अंतरिक्ष में लॉन्च करने के लिए हीलियम गुब्बारे का इस्तेमाल किया। इसे पहुंचाने के लिए उन्होंने तीन प्रयास किए। पहली बार, हीलियम के गुब्बारे उसके हाथों से फिसल गए थे । फिर उन्होंने बताया कि, “दूसरी बार हमारे पास पर्याप्त हीलियम नहीं था, लेकिन हम आखिरकार तीसरी बार में वहां पहुँच ही गए।”

इस प्रयास को दिखने के लिए YouTube पर साझा किए गए एक वीडियो में नीरज गधेर और उनके दोस्तों को गोप्रो कैमरा और एक जीपीएस ट्रैकर के साथ तैयार किए गए गुब्बारे के साथ जोड़ने के बाद समोसा को अंतरिक्ष में लॉन्च करते हुए साफ़ देखा जा सकता है। जैसे ही उन लोगों ने समोसा लॉन्च किया और देखा कि यह वायुमंडल में बहुत ज्यादा ही ऊंचाई पर चला गया है।

गुब्बारा अंतरिक्ष में ऊपर चला तो गया। लेकिन, जब अगले दिन यह वापस आया और पता चला कि समोसा तो बेचारा फ्रांस में आकर कहीं गिर गया। वैसे इस समोसे को अंतरिक्ष में पहुंचाने से पहले नीरज गधेर ने काफी तैयारी की थी। इसके लिए बैलून में वीडियो कैमरा और जीपीएस ट्रैकर भी लगाया गया था। हालांकि, बाद में गुब्बारे के उंचाई पर जाने के बाद जीपीएस ट्रैकर बेचारा खराब हो गया था। जब GPS ट्रैकर ने काम करना शुरू किया तब पाया गया कि समोसा अंतरिक्ष तो पहुंचा पर फिर उत्तरी फ्रांस में कहीं क्रैश हो गया था।

Courtsey: Chai Wala 

इसके बाद  नीरज गधेर और उनके समूह ने  इंस्टाग्राम पर इस क्षेत्र के लोगों को एक ख़ास संदेश देना शुरू किया कि क्या कोई उस ‘समोसे’ को हासिल करना चाहेगा। फिर, एक्सल मैथॉन (Axel Mathon) के नाम से एक इंस्टाग्राम यूजर ने उनके अनुरोध को स्वीकार कर लिया और पिकार्डी (Picardie) में एक मैदान में यह बेचारा ‘समोसा’ पाया गया।