Vaccination

    नई दिल्ली: केंद्र ने सोमवार को राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश को यह स्पष्ट कर दिया कि कोविड टीकाकरण केंद्रों (सीवीसी) के काम करने के लिए कोई समयसीमा तय नहीं की गयी है तथा वे मानव संसाधन और बुनियादी ढांचे की उपलब्धता के आधार पर हर रोज रात 10 बजे तक काम शुरू कर सकते हैं।

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा कि ऐसी धारणा है कि कोविड टीकाकरण केंद्र हर रोज केवल सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक ही काम कर सकते हैं। अगनानी ने कहा, ‘‘इस संबंध में यह दोहराया जाता है कि सीवीसी के काम करने के लिए कोई समयसीमा नहीं है।

    टीकाकरण सत्र के समय मांग और किसी सीवीसी पर आवश्यकता के अनुसार तय किए जाते हैं। बढ़ती मांग के मामले में यह सलाह दी जाती है कि आवश्यकता को पूरी करने के लिए प्रत्येक सीवीसी पर कई दलों की व्यवस्था की जाए। यह पुन : दोहराया जाता है कि सीवीसी के समय में बदलाव किए जा सकते हैं और मानव संसाधन तथा बुनियादी ढांचे की उपलब्धता के आधार पर यह रात दस बजे तक हो सकता है।”

    देश में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि को देखते हुए भी अगनानी ने सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को सभी स्तरों पर कोविड उपयुक्त व्यवहार का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए कहा। यह सुनिश्चित किया जाए कि सीवीसी में कतारों और प्रतीक्षा क्षेत्रों में कोविड उपयुक्त व्यवहार का सख्ती से पालन किया जाए। 

    पत्र में कहा गया है, ‘‘हमारी कोशिशें राष्ट्रीय कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत सुरक्षा और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के साथ नागरिकों की सुविधाओं को बढ़ाने की ओर होनी चाहिए। मैं टीकाकरण कार्यक्रम के तहत नयी उपलब्धियों को हासिल करने के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को भारत सरकार के ओर से सहयोग जारी रखने को लेकर आश्वस्त करता हूं।’ (एजेंसी)