Central government approves ethanol purchase mechanism, lifts ban on MP fund
ANI Photo

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण (PMAY-G Scheme) को 2024 तक जारी रखने को मंजूरी दी है। वहीं केन बेतवा प्रोजेक्ट को लिंक करने की मंजूरी भी दी गई है। यह जानकारी केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने बैठक के बाद दी। 

    केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत आंकलन किया गया था। जिसके तहत 2 करोड़ 95 लाख लोगों को पक्के मकान की ज़रूरत है। वहीं अब तक 1 करोड़ 67 लाख आवास बना कर दिए जा चुके हैं। बाकि बचे परिवार भी अपने पक्के घर बना सके। इसलिए आवास योजना को 2024 तक जारी रखने की मंजूरी दी गई है। 

    केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि, पीएम आवास योजना- ग्रामीण के तहत मार्च 2021 तक 1.97 लाख करोड़ रुपये खर्च हो चुका है। जिसमें केंद्र सरकार ने 1,44,162 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। वहीं  बाकि बचे पक्के मकान को बनाने के लिए सरकार ने 2,17,257 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है, चूंकि 2024 तक शेष परिवार को पक्का मकान बनाकर दिए जा सकें। 

    सरकारी बयान के अनुसार, इस योजना के तहत शेष 1.55 करोड़ मकानों के निर्माण के लिये वित्तीय प्रभाव 2.17 करोड़ रूपये आयेगा जिसमें केंद्र की हिस्सेदारी 1.25 लाख करोड़ रूपये तथा राज्य की हिस्सेदारी 73,475 करोड़ रूपये होगी  इसके तहत नाबार्ड को अतिरिक्त ब्याज के पुन:भुगतान के लिये 18,676 करोड़ रूपये की अतिरिक्त जरूरत होगी ।

    केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट को मंजूरी

    केंद्रीय मंत्री ने कहा,  केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बैठक में 44,605 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले केन-बेतवा नदियों को जोड़ने वाले प्रोजेक्ट को भी मंजूरी दे दी है। यह भी एक राष्ट्रीय परियोजना होगी और जिसमें केंद्र सरकार का कुल योगदान 90 प्रतिशत होगा। इस प्रोजेक्ट को 8  वर्षों में पूरा किया जाएगा।

    इस प्रकल्प के खर्च में सरकार का हिस्सा 90 प्रतिशत यानी लगभग 39,317 करोड़ रुपये होगा। केन बेतवा प्रोजेक्ट के तहत बुंदेलखंड क्षेत्र में पानी की समस्या से परेशान लोगों को राहत मिलेगी।  जिससे न केवल पिने का पानी बल्कि सिंचाई की योजना को भी लाभ मिलेगा। जिसके वजह से बुंदेलखंड क्षेत्र का विकास पूर्ण गति से होगा और यहाँ के लोगों के सामाजिकऔर आर्थिक में बदलाव होगा।  

    केन-बेतवा नदी जोड़ो परियोजना दो राज्यों उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच नदियों को जोड़ने की अहम परियोजना है।  इस परियोजना से मध्य प्रदेश में छतरपुर, पन्ना, टीकमगढ़, सागर, दमोह, दतिया, विदिशा, शिवपुरी जिलों को पानी मिलेगा, वहीं उत्तर प्रदेश के बांदा, महोबा, झांसी और ललितपुर जिलों को राहत मिलेगी।   इस परियोजना के तहत केन नदी से बेतवा नदी में पानी भेजा जाएगा । इसके लिए मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में दौधन बांध का निर्माण किया जाएगा ।