MODI-CHEETAH
Pic: Social Media

    नई दिल्ली. वन्यजीव प्रेमियों के लिए मिली एक बड़ी खबर के मुताबिक, यहां नामीबिया (Namibia) से सितंबर में लाए गए 8 चीतों के बाद अब भारत 50 और चीतों को लाने के लिए दक्षिण अफ्रीका (South Africa) से बात को बढ़ा रहा है। दरअसल भारत में चीतों (Cheetah) को लाने के कार्यक्रम के तहत उन्हें उनके प्राकृतिक आवास में छोड़ने से पहले उनकी संख्या बढ़ाने की बहुत जरूरत है। वहीं इस प्रक्रिया से जुड़े एक व्यक्ति के मुताबिक, मध्य प्रदेश का कूनो नेशनल पार्क फिलहाल इन तेंदुओं का घर है।

    गौरतलब है कि, भले ही चीता एक तेज जानवर है, लेकिन उन्हें जंगल में छोड़ने से पहले उनकी उचित संख्या भी होनी चाहिए और उन्हें जंगल के अनुसार ढल जाने भी चाहिए। हालांकि अब तक कूनो चीतों के लिए अच्छा आवास साबित हो रहा है क्योंकि यह उनकी जलवायु परिस्थितियों के अनुकूल है। 

    इधर नामीबिया से लाए गए 8 चीतों में से 5 मादा हैं, जिनकी उम्र 2 से 5 साल के बीच है, वहीं 3 चीतों की उम्र 4.5 से 5.5 साल के बीच है। चीतों का अगला जत्था भी इसी उम्र के आसपास होने का अनुमान है।

    जानकारी हो कि, चीते भारत से पूरी तरह विलुप्त हो चुके हैं। इसका मुख्य कारण अधिक शिकार किया जाना और रहने के लिए जगह का न होना बताया जाता है। आखिरी बार 1948 में छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के साल वनों में एक मृत चीता पाया गया था। दुनिया में चीतों की सबसे अधिक आबादी नामीबिया में है।