STONE-PELTERS

    श्रीनगर.  एक बड़ी और महत्वपूर्ण खबर के अनुसार जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में अब पत्थरबाजों के खिलाफ एक बड़ा और साथ ही बहुत कड़ा एक्शन लिया गया है। जी हाँ अब पत्थरबाजी जैसी गतिविधियों में शामिल रहे युवाओं को न तो सरकारी नौकरी मिलेगी और न ही उनके लिए पासपोर्ट का वेरिफिकेशन किया जाएगा। इस बाबत कश्मीर CID ने एक सर्कुलर जारी कर दिया है। इस सर्कुलरके अनुसार अब पत्थरबाजी जैसी किसी भी  गतिविधियों में शामिल लोगों को सिक्योरिटी क्लियरेंस बिल्कुल भी न दिया जाए। 

    दरअसल आज कश्मीर CID के SSP ने एक सर्कुलर जारी किया है। इसमें उन्होंने कहा है कि, पासपोर्ट, सरकारी नौकरी या सरकारी योजनाओं से जुड़े मामलों में किसी व्यक्ति की सिक्योरिटी क्लियरेंस की रिपोर्ट तैयार की जाए, तो उस वक्त इस बात का भी जरुर ध्यान रखा जाए कि वो व्यक्ति पत्थरबाजी, कानून-व्यवस्था भंग करने या किसी दूसरे अपराध में शामिल तो नहीं था। अगर कोई भी ऐसा मिलता है तो उसे जरुरी सिक्योरिटी क्लियरेंस बिल्कुल भी न दिया जाए।

    इसके साथ ही इस जरुरी सर्कुलर में ये भी स्पष्ट कहा गया है कि ऐसे व्यक्तियों की पहचान के लिए संबंधित पुलिस स्टेशन से भी एक रिपोर्ट ली जाए। इसके साथ ही सुरक्षा एजेंसियों और पुलिस के पास भी ऐसे लोगों की CCTV फुटेज, तस्वीरें, वीडियो, ऑडियो और क्वाडकॉप्टर के जरिए ली गईं तस्वीरें रहती हैं, उनकी भी जरुरी मदद ली जाए। इसके बाद ही जरुरी सर्टिफिकेट दिया जाए।