संजय सिंह: देश कोरोना से त्रस्त, बीजेपी ”बेबी डॉल” की पार्टी में मस्त

नई दिल्ली, एक तरफ जहाँ गायिका कनिका कपूर के कोरोना संक्रमित होने कि खबर की पुष्टि होने के बाद राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पुत्र सांसद दुष्यंत समेत कई नेता आइसोलेशन में चले गए हैं।

नई दिल्ली, एक तरफ जहाँ गायिका कनिका कपूर के कोरोना संक्रमित होने कि खबर की पुष्टि होने के बाद राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पुत्र सांसद दुष्यंत समेत कई नेता आइसोलेशन में चले गए हैं। वहीं अब दुष्यंत के गैर जिम्मेदाराना रवैये पर आप पारी के संजय सिंह ने बीजेपी को घेर लिया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया की एक तो मप्र सरकार को गिराने के लिए बीजेपी ने जानबूझकर संसद चलवायी। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना के इस गंभीर आपदा के समय कुछ बीजेपी नेता ‘बेबी डॉल’ के साथ पार्टी-मज़े में व्यस्त है। 

विदित हो कि वसुंधरा राजे और दुष्यंत उस पार्टी के प्रमुख अतिथि थे जिसमे कनिका कपूर नहीं मौजूद थी। वहीं इस पार्टी के दो दिन बाद दुष्यंत, राष्ट्रपति भवन में हुई उस ब्रेकफॉस्ट पार्टी में भी गए जहाँ केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जनरल वीके सिंह, गजेंद्र शेखावत, अर्जुन राम मेघवाल, कैलाश चौधरी, साध्वी निरंजन ज्योति, सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर, विजय गोयल, ओम माथुर, रविकिशन, हेमामालिनी, रीता बहुगुणा जोशी, और साक्षी महराज जैसे प्रमुख नेता भी थे मौजूद थे।

इसी मुद्दे को लेकर अब आप नेता संजय सिंह ने मोर्चा खोला है। उनका कहना है कि बीजेपी ने जानबूझकर मध्य प्रदेश में सरकार बनाने की होड़ में जबरदस्ती संसद चलवाई वहीं उधर खुद कुछ भाजपाई इस गंभीर कोरोना प्रकोप की परिस्तिथि में ‘बेबी डॉल’ के साथ मौज मस्ती में लगे थे। संजय सिंह ने यह भी कहा की उनके मित्र और तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन कोरोना प्रकोप के चलते एहतियातन आइसोलेशन में चले गए हैं वहीं भाजपा अपनी सरकार बनाने की होड़ में लगी रही और उधर उनके नेता कोरोना प्रकोप जैसे गंभीर समय में पार्टीबाजी और मौजमस्ती में लगे रहे। 

यह भी प्रासंगिक है कि आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पहले भी सदन में कोरोना टेस्ट की सुविधा बढ़ाने की जरुरी मांग रखी थी। वहीं उन्होंने दक्षिण कोरिया की तर्ज पर जांच सुविधा के लंबे विस्तार की मांग भी की थी। आपको यह भी  बता दें कि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए विपक्षी सांसद पिछले कई दिनों से संसद सत्र स्थगित करने की लगातार मांग कर रहे हैं लेकिन केंद्र सरकार ने अब तकइस मांग पर कोई  ध्यान नहीं दिया हैं। वहीं भारत में अब तक कोरोना वायरस के 256 मामलों की पुष्टि हो गयी है।