mamta-priyanka
File Pic

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भवानीपुर सीट (Bhavanipur Seat) पर हुए उपचुनाव के लिए मतों की गिनती रविवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है, साथ ही जंगीपुर और समसेरगंज विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए भी मतगणना शुरू हो गई है। इस संबंध में एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस साल की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम से चुनाव हार गई थीं। दक्षिण कोलकाता में भवानीपुर सीट पर उपचुनाव में भाजपा की प्रियंका टिबरेवाल और माकपा के श्रीजिब बिस्वास से बनर्जी का मुकाबला है।

    मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बने रहने के वास्ते उन्हें विधानसभा के लिए निर्वाचित होना होगा। निर्वाचन आयोग ने भवानीपुर के सखावत मेमोरियल कन्या उच्च विद्यालय में बने मतगणना केंद्र पर त्रिस्तरीय सुरक्षा के इंतजाम किए हैं, जहां केंद्रीय बलों की 24 कंपनियां भी तैनात की गई हैं। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) स्ट्रांग रूम में आठ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और नतीजे 21 चरण की मतगणना के बाद घोषित किए जाएंगे। तीनों निर्वाचन क्षेत्रों में मतगणना केंद्रों के 200 मीटर के दायरे में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है।

    इन सीटों पर 30 सितंबर को मतदान हुआ था। निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने कहा कि उम्मीदवार और उनके एजेंट जिन्होंने कोविड​​-19 रोधी टीकों की दोनों खुराक ली है या जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं है, उन्हें मतगणना स्थलों में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों और एजेंटों को कोविड​​-19 प्रोटोकॉल का पालन करने को कहा गया है। दक्षिण कोलकाता के भवानीपुर से विधानसभा चुनाव जीतने वाले राज्य के मंत्री शोभनदेब चट्टोपाध्याय ने मई में परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद सीट खाली कर दी थी, जिससे उपचुनाव का मार्ग प्रशस्त हो गया ताकि बनर्जी यहां से चुनाव लड़ सकें। मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुर और समसेरगंज में एक-एक उम्मीदवार की मौत के बाद मतदान स्थगित कर दिया गया था। भवानीपुर में 57 फीसदी से ज्यादा मतदान हुआ। समसेरगंज और जंगीपुर में क्रमशः 79.92 प्रतिशत और 77.63 प्रतिशत मतदान हुआ।