Whatsapp Privacy Policy

    नई दिल्ली: डाटा प्राइवेसी (Data Privacy) को लेकर शुरू विवाद और सोशल मैसेजिंग एप व्हाट्सअप (Whatsapp) के अड़ियल रवैये को देखते हुए भारत सरकार (Indian Government) ने कंपनी को सबक सीखाने की ठान ली है। सरकार जल्द ही स्वदेशी मैसेजिंग एप ‘संदेश’ और ‘संवाद’ को लॉन्च करने वाली है। केंद्रीय सूचना और प्रद्योगिकी मंत्रालय (Union Ministry of Information and Technology) के अनुसार अभी दोनों एप का बीटा वर्जन पर परीक्षण शुरू है। 

    मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि, “देश में व्हाट्सएप की तरह दो स्वदेशी मैसेजिंग ऐप का परीक्षण बीटा वर्जन पर कर रही है। उनका नाम संवाद (Samvad) और संदेश (Sandes) रखा गया है, जिसका शाब्दिक अर्थ ‘वार्तालाप’ और ‘संदेश’ है।”  उन्होंने कहा, “यह पूरी तरह स्वदेशी है और इन्हे भारत सरकार बना रही है। जो पूरी तरह  व्हाट्सएप के जैसे ही तुरंत संदेश भेजने वाला एप है।”

    वहीं एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सरकार द्वारा बनाया जाने वाला एप पूरी तरह व्हाट्सऐप की तरह ही काम करेगा। इसी के साथ सरकार GIMS-सरकारी इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप पर भी काम कर रही है। जिसका इस्तेमाल  भारत सरकार के कर्मचारी ही एक दूसरे से बात करने के लिए करेंगे।”

    वाहट्सएप विवाद के पहले शुरू हुआ काम

    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, “सरकार देशी मैसेजिंग एप की जरुरत पिछले कई दिनों से की जा रही थी। एक ऐसा एप जो पूरी तरह स्वदेशी स्वतंत्र और स्व-स्वामित्व वाली त्वरित संदेश सेवा ऐप हो। दोनों एप को बनाने का काम वाहट्सएप विवाद के पहले से शुरू हो गया था।” सूत्रों के अनुसार इस एप को बनाने का मुख्य मकसद डाटा चोरी से बचाना और साथ ही बड़ी तकनीकी कंपनियों की तरह उसका व्यावसायिक लाभ के लिए उपयोग रोकना भी है।”

    अभी शुरूआती काम शुरू

    रिपोर्ट के अनुसार अभी यह तय नहीं है की सरक़ार दोनों एप को लॉन्च करेगी या दोनों में से किसी एक को। हालांकि अभी दोनों बीटा वर्जन पर परिक्षण शुरू है, जो किसी भी एप की शुरूआती वर्जन होता है।