PIC: Twitter
PIC: Twitter

    -सीमा कुमारी

    गर्मियों में तापमान बढ़ जाने से शरीर में पानी की मात्रा कम होने लगती है और इससे हमारा पाचन तंत्र खराब होने लगता है। जिस वजह से खट्टी डकार और बदहजमी जैसी समस्या होने लगती है। ऐसा कहा जाता है कि ज्यादा प्रोटीन और शराब का ज्यादा सेवन करने से भी खट्टी डकार आ सकती है। खट्टे डकार आने का मुख्य कारण पाचन से जुड़ी दिक्कतें ही होती हैं। इससे सीने में जलन की भी परेशानी होने लगती है। ऐसे में कुछ घरेलू उपाय को अपनाकर इससे से निजात पाया जा सकता है।आइए जानें इस बारे में-

    हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, आंवला विटामिन-C से भरपूर होता है। इसमें कई पोषक तत्व पाएं जाते हैं। यह थोड़ा खट्टा जरूर होता है लेकिन रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से कई तरह की बीमारियां दूर हो सकती है। आंवला पेट के लिए रामबाण है। आंवला का जूस भी काफी फायदेमंद होता है।

    अगर आपको रात के समय खट्टी डकार की समस्या हो रही है तो नींबू पानी और दही का सेवन बिल्कुल न करें। ये आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। रात के समय आप सौंफ के साथ मिश्री का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको जरूर राहत मिलेगी। दरअसल, सौंफ पाचन तंत्र को बेहतर बनाता है और पेट में गैस नहीं बनने देता जबकि मिश्री से पेट को ठंडक मिलती है।

    जानकारों के मुताबिक, गर्मियों में छाछ काफी लाभकारी है। छाछ गैस व खट्टी डकार की समस्याओं से भी फायदा दिलाता है। मार्केट में नमकीन व सादा दोनों तरीके के छाछ उपलब्ध होते हैं। अगर सादा छाछ है तो आप इसे घर में जीरा, हींग व काला नमक के साथ मिलाकर रोज सुबह खाली पेट पी सकते हैं।

    काला नमक पाचन के लिए काफी फायदेमंद है। खट्टी डकार की समस्या में काला नमक और जीरे के प्रयोग से राहत पाई जा सकती है। अगर आपको अक्सर खाने के बाद खट्टी डकार की समस्या होती है तो 100 ग्राम जीरे को तवा पर भून लें और फिर महीन पीस लें। रोज खाने के बाद एक ग्लास पानी में आधा चम्मच भुने जीरे का पाउडर और आधा चम्मच काला नमक डालकर पिएं। इससे आपको आराम मिल सकता है।