(Image-Twitter)
(Image-Twitter)

    ईसाई समुदाय का प्रमुख त्योहार ‘गुड फ्राइडे’ (Good Friday) इस साल 15 अप्रैल को है। ईसाई धर्म में इस त्योहार का बहुत अधिक महत्व है। जब ईसा मसीह को मृत्युदंड दिया गया था, उस दिन शुक्रवार था। 

    उन पर राजद्रोह का आरोप लगाया था और फिर उनको सूली पर चढ़ाया गया था। उस शुक्रवार को ईसा मसीह ने अपने प्राण त्याग दिए थे। तब से उस शुक्रवार को गुड फ्राइडे के रुप में मनाते हैं। गुड फ्राइडे को ब्लैक फ्राइडे, यानी काला दिवस होली फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहा जाता हैं। ऐसे में आइए जानते हैं इस साल का गुड फ्राइडे कब है और ये दिन क्यों मनाया जाता हैं।

     गुड फ्राइडे हर साल ‘ईस्टर संडे’ से पहले पड़ने वाले शुक्रवार को आता है। इस साल गुड फ्राइडे 15 अप्रैल को मनाया जाएगा। ये ईसाई समुदाय के सबसे प्रमुख त्योहारों में से एक है।

    आखिर क्यों मनाया जाता है ‘गुड फ्राइडे’

    ईसाई धर्म को मानने वाले लोग गुड फ्राइडे इसलिए मनाते हैं, क्योंकि इसी दिन प्रभु यीशु को सूली पर चढ़ाया गया था। ईसा मसीह प्रेम और शांति के मसीहा थे। दुनिया को प्रेम और करुणा का संदेश देने वाले प्रभु यीशु को उस समय के धार्मिक कट्टरपंथी ने रोम के शासक से शिकायत करके उन्हें सूली पर लटका दिया था, लेकिन कहा जाता है कि प्रभु यीशु इस घटना के तीन दिन बाद पुनः जीवित हो उठे थे।

    गुड फ्राइडे के दिन गिरजाघरों में विशेष प्रार्थना आयोजित की जाती है। ईसाई समुदाय के लोग सुबह की प्रार्थना में शामिल होते है। इस दिन ईसा मसीह के अंतिम क्षणों एवं बलिदान को याद किया जाता है। और उपवास करने के बाद मीठी रोटी बनाकर खाई जाती है। हर साल अक्सर अप्रैल के महीने में गुड फ्राइडे पड़ता है। ईसा मसीह के उपदेशों को पढ़ा जाता है। उनके बताए संदेशों और उपदेशों को स्वयं के जीवन में उतारने का प्रयास किया जाता है।

    – सीमा कुमारी