Arnab Goswami gets time from court to change his petition, know the whole matter

मुंबई. रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी (Republic TV Editor-in-Chief Arnab Goswami) ने मंगलवार को बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) का रुख कर टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट्स (Television rating points) (टीआरपी) फर्जीवाड़ा मामले (Fraud case) में मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की आगे की जांच पर रोक लगाने का अनुरोध किया। गोस्वामी और रिपब्लिक टीवी का मालिकाना हक रखने वाली एआरजी आउटलियर मीडिया (ARG Outlier Media) द्वारा दायर याचिका में यह आरोप भी लगाया गया है कि कंपनी के एक कर्मचारी को पुलिस ने हिरासत में प्रताड़ित किया था। (arnab Goswami asked the court to stop the investigation of Mumbai Police)

याचिका में दावा किया गया है कि महाराष्ट्र (Maharashtra) के प्राधिकारों द्वारा कथित तौर पर चुनिंदा तरीके से दुर्भावनापूर्ण कार्रवाई की जा रही है। याचिका के मार्फत इससे सभी कर्मचारियों के लिए संरक्षण की मांग की गई है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि रिपब्लिक टीवी के सहायक उप प्रमुख, वितरण, घनश्याम सिंह को 10 नवंबर को गिरफ्तार किया गया और उन्हें हिरासत में प्रताड़ित किया गया और पीटा गया। सिंह को पिछले हफ्ते जमानत मिली थी।

याचिका में आरोप लगाया गया है कि पुलिस गोस्वामी और एआरजी मीडिया के अन्य लोगों को फंसाने के लिए पूर्व निर्धारित तरीके से काम कर रही है। साथ ही, वह इसके लिए गवाहों को प्रभावित कर रही और याचिकाकर्ताओं के खिलाफ झूठे बयान दिलवा रही है। याचिका में कहा गया है कि इसलिए अदालत को मामले की जांच सीबीआई या किसी अन्य स्वतंत्र एजेंसी को हस्तांतरित कर देना चाहिए। याचिका को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया जाना अभी बाकी है। प्रतिक्रिया के लिए संपर्क किए जाने पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। (एजेंसी)