भांडुप आग
भांडुप आग

    मुंबई: भांडूप (Bhandup) के ड्रीम मॉल (Dream Mall) स्थित सनराइज अस्पताल में गुरुवार देर रात लगी भयानक आग में जल कर 9 कोविड मरीजों की मौत हो गई।  इस कोविड अस्पताल में कुल 76 मरीज भर्ती किए थे जिसमें से 73 कोविड पॉजिटिव थे और 3 नॉन पॉजिटिव थे।  रात 11 बजे लगी आग को फायर ब्रिगेड ने लेवल 4 की आग घोषित करते हुए मरीजों को बचाने की कोशिश तेज कर दी थी, लेकिन आग इतनी भीषण थी कि जब तक काबू पाया जाता 9 मरीजों की झुलस कर मौत हो चुकी थी।  मरीज कोरोना से तो बचे रहे लेकिन आग से मर गए। 

    बीएमसी आपातकालीन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार, अस्पताल से बचाए गए मरीजों में 30 मरीजों को मुलुंड के जम्बो कोविड सेंटर में भर्ती किया गया है।  3 नॉन कोविड पॉजिटिव मरीजों को फोर्टिस अस्पताल में भर्ती किया गया है।  जबकि बचे हुए मरीज स्वयं विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हुए हैं। 

    मुंबई महानगरपालिका की महापौर किशोरी पेडणेकर और अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी घटना स्थल पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया। काकानी ने आग लगने की जांच के आदेश दिए हैं।  काकानी ने कहा कि अस्पताल में अग्निरोधी सुरक्षा उपकरण कार्यरत थे क्या अथवा अग्नि सुरक्षा प्रमाणपत्र था क्या? इसकी जांच की जाएगी। 

    ग्राउंड प्लस 3 स्ट्रक्चर वाले सनराइज अस्पताल मॉल में होने के कारण आग बुझाने के कठिनाई आ रही थी।  आग लग कर 12 घंटे होने के बाद भी आग पर काबू नहीं पाया जा सका है. रह रह कर आग तेज हो जा रही है। आग में मृतकों की संख्या बढ़ने की संभावना व्यक्त की जा रही है। 

    मॉल में अस्पताल बेहद शॉकिंग

    ड्रीम मॉल अस्पताल की अनुमति कैसे दी गई? यह बहुत शॉकिंग है। पूरे मामले की जांच की जाएगी। हमने यहां का जायजा लेकर अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश दिए हैं। फायर ब्रिगेड की तरफ से बचाव कार्य करते हुए आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है।