uddhav

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra Corona Updates) में कोरोना के मामले अब कम हो गए हैं। राज्य की उद्धव सरकार (Uddhav Govt) अपने स्तर पर किसी तरह का कोई जोखिम नहीं उठाना चाहती है इसलिए लॉकडाउन (Lockdown) को 15 जून तक बढ़ाया गया है। इसी कड़ी में सरकार ने अब बड़ा फैसला लेते हुए कोरोना के इलाज का रेट फिक्स कर दिया है। सरकार के इस फैसले से आम आदमी को राहत जरूर मिलेगी। क्योंकि राज्य के कई अस्पतालों से मनमाना तरीके से कोरोना के इलाज में पैसे वसूलने की खबरें सामने आई हैं। 

    ज्ञात हो कि महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को प्राइस कैप डालकर कोविड के इलाज का रेट तय कर दिया है। सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने इसे लेकर निश्चित की गई अधिसुचना को हरी झंडी दी है। साथ ही उद्धव ठाकरे ने इसे सख्ती से पालन कराने का भी निर्देश दिया है। सरकार ने रेट को तय करने के लिए शहरों और इलाकों को अ,ब,क जैसी विभिन्न कैटेगरी में बांटा हुआ है। इससे शहरों और ग्रामीण इलाकों में कोरोना के इलाज का रेट अलग-अलग होगा।

    उल्लेखनीय है कि सरकार ने देर से ही सही लेकिन आम लोगों को राहत दे दी है। दूसरी लहर का कोहराम ग्रामीण इलाकों में भी जारी है। इसलिए इस फैसले से वहां लोगों को काफी फायदा होगा। अब कुछ प्राइवेट अस्पताल जो कोरोना के इलाज के नाम पर जनता को लुट रहे थे ऐसे मामलों पर लगाम लगेगी।