पहले दिन विधानमंडल में क्या हुआ?, जानें

मुंबई. महाराष्ट्र विधानमंडल (Maharashtra Legislature) का शीतकालीन सत्र (Winter Session) आज से (14 दिसंबर) शुरू हुआ। सत्र के पहले दिन विधानमंडल में 22 हजार करोड़ रूपये की अनुपूरक मांगे (Ask for supplement) पेश की गई है। इसमें ओबीसी समुदाय (OBC Society) के महाज्योति संस्था (Mahajyoti Organisation) के लिए 81 करोड़, मराठा समुदाय (Maratha Society) के ‘सारथी’ संस्था (Sarthi Organisation) के लिए 11 करोड़, ओबीसी छात्रों की छात्रवृत्ति (OBC Student Scholarship) के लिए 11 करोड़, घुमंतू जनजातियों और वंचित जनजातियों के आश्रम स्कूलों (Ashram Shala) के लिए 216 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

क्या हुआ आज विधान मंडल में?

विधानमंडल में पहले दिन पूर्व मंत्री विष्णु सावरा, विनायक पाटिल, जावेद खान, भरत भालके, सरदार तारासिंह, अनंतराव देवसरकर, नारायण पाटिल, नरसिंगराव घरपालकर, किशनराव खोपड़े और सुरेश गोरे को श्रद्धांजली दी गई. 

धनगर आरक्षण (Dhanagar Reservation) के लिए विधायक गोपीचंद पडलकर (MLA Gopichand Padalkar) ने विधानमंडल परिसर में ढोल बजाकर आंदोलन किया। 

विधानमंडल में आज ‘शक्ति कानून’ (Shakti Bill) के संबंध में विधेयक पेश किया गया। यह कानून महिला और बच्चों के साथ दुर्व्यवहार से संबंधित है। आज पेश किए गए विधेयकों पर कल चर्चा की जाएगी। 

मराठा आरक्षण के लिए विधानमंडल की सीढ़ियों पर विपक्षियों ने आंदोलन कर सरकार के खिलाफ नारेबाज़ी भी की। 

आरोप-प्रत्यारोप 

शीतकालीन सत्र के पहले दिन की शुरुवात में ही नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा, “वर्तमान में राज्य में किसानों (Farmers Problem) के प्रश्न और मराठा आरक्षण के मुद्दे चल रहे है, बावजूद इसके सरकार अब सत्र से भागने की कोशिश कर रही है।” आज का दिन शोक प्रस्ताव का होता है। दूसरे दिन केवल 6 घंटे का सत्र और उसमे सरकार ने 10 विधेयक दिखाए है। इसका यही अर्थ है कि, सरकार को चर्चा नहीं करनी है।” 

फडणवीस ने ठाकरे सरकार को सवाल करते हुए कहा कि, “सरकार बंगलों पर पैसा खर्च करती है, फिर किसानों की मदद के लिए सरकार के पास पैसा क्यों नहीं है।”

फडणवीस के प्रश्न पर जवाब देते हुए अजित पवार (Ajit Pawar) ने कहा, “बंगले पर 90 करोड़ रूपये खर्च करने वाली खबर पूरी तरह से झूठी है। बंगलों पर कितना खर्च हुआ इसका आंकड़ा अभी उपलब्ध नहीं है, फिर 90 करोड़ रुपये का आंकड़ा कहां से आया?” ऐसा सवाल पवार ने उपस्थित किया। 

परिषद में 12 सीटों का मुद्दा

महाराष्ट्र विधानमंडल का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हुआ लेकिन विधानपरिषद (Vidhan Parishad) में राज्यपाल नियुक्त (Governor Elected) 12 सीटें अभी तक खाली हैं। विधानसभा सत्र शुरू होते ही इस मुद्दे को संसदीय कार्य मंत्री अनिल परब (Anil Parab) ने उठाया।

परब को जवाब देते हुए फडणवीस ने कहा, “क्या पार्टी तय करती है कि राज्यपाल को क्या करना चाहिए? यह उनका फैसला है। अनिल परब संसदीय कार्य मंत्री और वकील है उन्हें तो इतना पता रहना ही चाहिए।”

कंगना रनौत के खिलाफ उल्लंघन

शिवसेना नेता प्रताप सरनाईक (Pratap Sarnaik) ने अभिनेत्री कंगना रनौत (Actress Kangana Ranaut) के खिलाफ मानहानि का प्रस्ताव रखा। इसपर उन्होंने कहा कि, “कंगना रनौत ने मेरे बारे में किया ट्वीट झूठा है। मैं मानता हु की ईडी की जांच चल रही है, लेकिन मेरे घर में पाकिस्तानी क्रेडिट कार्ड (Pakistan Credit Card) नहीं मिला। कंगना के खिलाफ ऐसी झूठी खबर देने के लिए मैंने अपनी आवाज उठाई है।”

“प्रताप सरनाईक के घर से पाकिस्तानी क्रेडिट कार्ड जब्त किए गए” ऐसा ट्वीट कंगना ने किया था।