Mansukh Hiren

    मुंबई: महाराष्ट्र आंतकवाद-रोधी दस्ता (एटीएस) मनसुख हिरन (Mansukh Hiren Death Case) की कथित हत्या मामले में गिरफ्तार किये गए दो आरोपियों को सोमावर को नजदीकी ठाणे जिले (Thane District) में स्थित मुंब्रा (Mumbra) नहर ले जाएगा। वहां पांच मार्च को हिरन का शव मिला था। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। एटीएस ने हिरन की कथित हत्या के मामले में निलंबित पुलिसकर्मी विनायक शिंदे और क्रिकेट सट्टेबाज नरेश गौड़ को शनिवार रात गिरफ्तार किया था। हिरन उस कार का कथित मालिक था, जो दक्षिण मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के निकट मिली थी। कार से जिलेटिन (विस्फोटक सामग्री) की 20 छड़ें बरामद हुई थी।   

    एटीएस के अनुसार राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) द्वारा गिरफ्तार किये गए मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे का नाम हिरन की हत्या मामले में मुख्य आरोपी के रूप में सामने आया है। अधिकारी ने कहा, ”निलंबित पुलिसकर्मी विनायक शिंदे और सट्टेबाज नरेश गौड़ को मुंब्रा नहर के निकट रेतीबुंदर इलाके में ले जाया जाएगा, जहां (पांच मार्च को) हिरन का शव मिला था।” महाराष्ट्र एटीएस के महानिरीक्षक शिवदीप लांडे ने रविवार को फेसबुक पर लिखा था कि हिरन की हत्या की गुत्थी सुलझा ली गई है।

    उन्होंने राष्ट्रध्वज को सलामी देते हुए अपनी एक तस्वीर भी साझा की थी।  उन्होंने कहा था, ‘‘ इस मामले की निष्पक्ष जांच के लिये दिन-रात काम करने वाले अपने सभी अधिकारियों को सलाम करता हूं। यह मेरे जीवन का एक बेहद चुनौतीपूर्ण मामला था।”