1.50 lakh cases caught without ticket, Rs 9.50 crore fine recovered

    मुंबई. मध्य रेलवे (Central Railway) के मुंबई मंडल पर पिछले 2 माह में चलाए गए टिकट जांच अभियान (Ticket Checking Campaign) के तहत 1.50 लाख से ज्यादा अवैध यात्रा के मामले पकड़े गए। मुंबई मंडल में गैर-उपनगरीय और उपनगरीय ट्रेनों में अवैध रूप से यात्रा करने वालों से 9.50 करोड़ रुपये का जुर्माना (Fine) वसूला गया।

    सीपीआरओ शिवाजी सुतार ने बताया कि मध्य रेल मुंबई मंडल ने उपनगरीय, गैर-उपनगरीय,  मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में नियमित टिकट जांच अभियान चलाया जा रहा है। ट्रेनों में यात्रा के दौरान शासन के दिशा-निर्देशों और कोविड प्रोटोकॉल का पालन न करने वालों पर कार्रवाई हो रही है।

    मई में 54000 मामले

    मई माह में अवैध यात्रियों के 54,000 मामलों का पता चला और 3.33 करोड़ रुपए जुर्माने के रूप में वसूल किये गये। इनमें उपनगरीय खंड में 32,000 मामलों में 1.65 करोड़ रुपये और गैर-उपनगरीय खंड में 22000 मामलों से 1.68 करोड़ रुपये जुर्माना शामिल है। 1 अप्रैल  से 31 की अवधि के दौरान गैर-उपनगरीय ट्रेनों (लंबी दूरी की ट्रेनों) और उपनगरीय ट्रेनों में टिकट रहित-अनियमित यात्रा के 1.50 लाख मामले पकड़े गये, जिनसे 9.50 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला गया।

    बिना मास्क 1269

    लॉकडाउन में बिना मास्क यात्रा करने वाले 1269 लोगों के खिलाफ टिकट जांच कर्मियों की विशेष टीमों ने करवाई की 17 अप्रैल से 2 जून की अवधि के मास्क न पहनने वालों से 2,40645 रुपये का जुर्माना वसूल किया गया।

    डीएमए का उल्लंघन

    आपदा प्रबंधन अधिनियम (डीएमए) का उल्लंघन करने वाले अनधिकृत यात्रा के 2018  मामले पकड़े गये। 28 अप्रैल से 31 मई तक की 10,09,000 रुपये की राशि जुर्माना के रूप में वसूल की गई।