BKC-Sea Link Flyover

    मुंबई. जून माह के अंत तक बीकेसी-सी लिंक फ्लाईओवर (BKC-Sea Link Flyover) खोलने की तैयारी एमएमआरडीए (MMRDA) ने कर ली है। मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के आयुक्त एस.वी.आर श्रीनिवास के अनुसार, बांद्रा-वर्ली सी-लिंक से बीकेसी तक 725 मीटर लंबे नए फ्लाईओवर (New Flyover) का काम लगभग पूरा हो गया है। इसे जून के अंत तक यातायात के लिए खोल दिया जाएगा। 

    एमएमआरडीए के मुखिया श्रीनिवास के अनुसार, फ्लाईओवर पर स्ट्रीट लाइट (Street Lights) सहित सभी छोटे व लंबित काम जून के अंत तक पूरे कर लिए जाएंगे। यह काम जनवरी 2020 में शुरू किया गया था। इस सेकेंड आर्म फ्लाईओवर के मई अंत तक पूरा होने की उम्मीद थी, लेकिन कोरोना के चलते काम में कुछ देरी हुई। सीलिंक-बीकेसी फ्लाईओवर का पहला हिस्सा फरवरी 2021 में ही शुरू कर दिया गया था। निर्माणाधीन तीसरा फ्लाईओवर सायन-धारावी लिंक रोड (फ्री लेफ्ट) से सी-लिंक की ओर 349 मीटर है। इसके भी नवंबर के अंत तक तैयार होने की उम्मीद है। तीसरे फ्लाईओवर सायन-धारावी लिंक रोड (फ्री लेफ्ट) से सीलिंक के काम का दायरा मेट्रो लाइन एकीकरण योजना के कारण कम हो गया है। इसलिए परियोजना लागत में कमी आई है।

    720 मीटर लंबा फ्लाईओवर

    सी लिंक-बीकेसी फ्लाईओवर 725 मीटर लंबा है जिसमें दो लेन हैं। इस परियोजना की कुल लागत 103.73 करोड़ रुपये है। एमएमआरडीए की इस परियोजना के तहत तीन फ्लाईओवर प्रस्तावित किए गए थे। मेट्रो लाइन-2 बी कार्य के कारण तीसरे फ्लाईओवर का काम प्रभावित हुआ।